Trending Nowक्राइम

लाखों की लूट का पुलिस ने किया खुलासा, परिचित ही निकला मास्टरमाइंड, पांच साथियों के साथ इस लूट की वारदात को दिया था अंजाम

दुर्ग : अगर आप भी बैंक में पैसे निकालने के लिए अनजान लोगों की मदद लेते हैं तो आप सावधान हो जाईए. क्योंकि दुर्ग जिले में एक ऐसी घटना सामने आई है.जिसमें बैंक से पैसा लेने गए बुजुर्ग के साथ लाखों रुपए की लूट हो गई थी. दुर्ग के उतई थाना क्षेत्र में लाखों रुपए की लूट हुई थी. जिसमें एक बुजुर्ग को चाकू की नोंक पर लूटा गया था.जब पुलिस ने इस केस में आरोपी को पकड़ा तो सभी के होश उड़ गए.

दुर्ग के उतई थाना क्षेत्र के मर्रा गांव के रहने वाले बुजुर्ग भिलाई के सुपेला इलाहाबाद बैंक से पैसे निकालने गए थे. जहां सहयोग करने वाला एक व्यक्ति बुजुर्ग को बैंक से पैसा निकालकर देता है. इसके बाद बुजुर्ग उमेश कुर्रे अपने साइकिल से मर्रा गांव जाने के लिए निकलते हैं. तभी अचानक रास्ते में अज्ञात आरोपी बुजुर्ग को चाकू दिखाकर लूट की वारदात को अंजाम देकर फरार हो जाते हैं. इस घटना के बाद उमेश ने इस मामले की जानकारी पुलिस को दी. पुलिस ने घटना को गंभीरता से लेते हुए आरोपियों को पतासाजी में जुट गई.

प्रार्थी ने पुलिस को बताया गया कि जब बैंक गया था. तब सुपेला निवासी युवराज ने पैसा निकालने के लिये सहयोग किया था. जिसके बाद पुलिस ने युवराज को हिरासत में लेकर कड़ाई पुछताछ की. जिसमें युवराज ने घटना के संबंध में दो साथियों के बारे में जानकारी दी. जिसे भी हिरासत में लेकर पुछताछ किया जिसमें उन्होंने बताया कि उनके साथ 2 और साथी हैं. युवराज के कहने पर ही लूट की घटना को अंजाम दिया गया है. पुलिस ने इस मामले में युवराज समेत 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जिसमें युवराज साहू, सोमल राजू, गोलू उर्फ खिरोमणी,हिमालय बाघ, महेश महतो शामिल हैं. पुलिस ने इनके कब्जे से लूट के 1 लाख 18 हजार रूपये, एक मोटर साइकिल और मोबाईल को जब्त किया है. पुलिस ने सभी आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायिक रिमांड पर जेल भेज दिया है.

पाटन एसडीओपी देवांश राठौर ने बताया कि ” बुजुर्ग के साथ लूट करने वाला और कोई नहीं बल्कि बैंक में पैसा निकालने में मदद करने वाला युवराज साहू निकला. युवराज साहू ने पहले भी 5 लाख निकालने में बुजुर्ग की मदद की थी. जिसके बाद युवराज ने बुजुर्ग से कुछ पैसे उधार मांगे थे. लेकिन बुजुर्ग ने पैसे देने से इंकार कर दिया था.इसके बाद फिर बुजुर्ग ने दोबारा युवराज को पैसा निकालने के लिए बुलाया. जिसने बैंक से 1 लाख 30 हजार निकालकर दिए. इस बार युवराज ने लूट की प्लानिंग पहले ही बना ली थी. इसलिए जैसे ही साइकिल से बुजुर्ग अपने गांव के लिए निकला उसके साथ रास्ते में लूट हो गई.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: