Trending Nowशहर एवं राज्य

बस्तर यूनिवर्सिटी में लापरवाही… बीए फाइनल के छात्रों को बांट दिया सेकंड ईयर का पर्चा, 6 मई को होना था पेपर…

बस्तर यूनिवर्सिटी में लापरवाही और अफसरों की मनमानी थमने का नाम नहीं ले रही है। बीयू के अफसरों की गलती की वजह से बीए सेकंड ईयर का पर्यावरण का पर्चा बुधवार को लीक हो गया। दरअसल ऑनलाइन परीक्षा के तहत बुधवार(27 अप्रैल) को बीए फाइनल के छात्रों को पर्चे दिए जाने थे। इसमें पर्यावरण का पर्चा भी देना था, लेकिन अफसरों ने सभी कॉलेजों में बीए फाइनल वालों बीए सेकंड ईयर के पर्यावरण के पर्चे बंटवा दिए जो 6 मई को सेकंड ईयर वालों को देना था।

यह गलती पहली बार नहीं है। इससे पहले 25 अप्रैल को बीएससी फाइनल के पर्चे बांटे लेकिन इसमें भी गड़बड़ी ये है कि इसी पर्चे को बीएससी पार्ट-2 के लिए भी 5 मई को दिया जाएगा। इस गलती पर भी किसी भी जिम्मेदार ने ध्यान नहीं दिया और इसके बाद 27 अप्रैल को और भी बड़ी गलती कर दी गई।

गलत पर्चा देख छात्र परेशान, आज वापस करने जाएंगे कॉलेज
बीए पार्ट-3 की छात्रा उदिता सिंह ने बताया कि हम बुधवार को कॉलेज गए तो हमें सभी पर्चे एक साथ दिए गए। इन पर्चों के साथ पर्यावरण विषय का पर्चा भी था। कॉलेज में तो मैंने पर्चे पर लिखे क्लास का नाम नहीं पढ़ा था। शाम को जब मैंने पर्चों को फिर से देखा तो पर्यावरण के पर्चे में बीए पार्ट-2 लिखा था। जब तक मैं पर्चे देख पाई, तब तक कॉलेज बंद हो गया था। अब गुरुवार को फिर से कॉलेज जाऊंगी।

रजिस्ट्रार बोले- नॉट फीलिंग वेल, कांट टॉक
पूरे मामले पर जब बस्तर यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार वीके पाठक से चर्चा करने के लिए कई बार कॉल लगाने के बाद भी फोन रिसीव नहीं किया। इसके बाद अंग्रेजी में एक मैसेज भेजा जिसमें लिखा था ‘नॉट फीलिंग वेल कांट टॉक।’ चूंकि परीक्षा करवाने से लेकर परीक्षा संबंधी कार्यों की जिम्मेदारी रजिस्ट्रार की ही होती है और उन्होंने इस मामले में बात ही नहीं की ऐसे में यूनिवर्सिटी का पक्ष नहीं रखा जा सका।

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: