Trending Nowशहर एवं राज्य

मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तीन दिवसीय सरगुजा संभाग के लिए रवाना, बीजेपी के बस्तर पर उठाए सवाल पर CM ने कहा-उल्टा चश्मा पहनेंगे तो कहा से दिखेगा

रायपुर. मुख्यमंत्री भूपेश बघेल तीन दिवसीय सरगुजा संभाग के लिए रवाना हुए हैं.जाने से पहले विभिन्न मुद्दों पर मीडिया से बातचीत की. सरगुजा के बाद बस्तर उसके बाद फिर अब जशपुर जा रहा हूं.

बीजेपी के द्वारा बस्तर बदल रहा है पर सवाल उठाने पर कहा कि बीजेपी के नेता बस्तर जाएंगे तभी पता चलेगा.उल्टा चश्मा पहनेंगे तो कहा से दिखेगा.बस्तर के व्यापारी किसान नौजवान है उनसे बात करेंगे तभी जाकर पता चल पाएगा। अभी जाकर देखेंगे तो पता चल जाएगा कि पुल पुलिया सब बनाया जा रहा है.बस्तर में लोगों की आय बढ़ी है पूर्व मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह के राज में जितना बैंक नहीं खुला उतना हमारे राज्य में खुला है।

हरियाणा के चुनाव परिणाम कहा कि जैसा हम लोग उम्मीद कर रहे थे वैसा परिणाम नहीं हुआ.जितने विधायक छत्तीसगढ़ आए थे सभी ने वोट डाला.हम उम्मीद कर रहे थे कि हमें पूरे वोट मिलेंगे वोट नहीं मिल पाया.जांजगीर-चांपा में बोरवेल में फंसे बच्चे के सवाल पर कहा कि कलेक्टर एसपी और बच्चे के माता-पिता से बातचीत हुई है.बच्चा सकुशल है बच्चे सुन और बोल नहीं पाता।

गुजरात से टीम बुलाई गई है, शाम तक वहां की टीम छत्तीसगढ़ पहुंच जाएगी. प्रशासन वहां लगातार लगा हुआ है.एक-एक जान की कीमत हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण है। बचाने की भरपूर कोशिश की जा रही है।

देश मे खराब हो रहे माहौल पर कहा कि यह ऋषि-मुनियों का देश है प्रेम और भाईचारा का संदेश हमारे ऋषि-मुनियों ने दीया है उसको लेकर आगे बढ़ना चाहिए। यह जो ध्रुवीकरण की राजनीति है. उससे भारतीय जनता पार्टी को जरूर लाभ हो रहा है लेकिन इससे देश को नुकसान हो रहा है. वही चीज आगे बढ़कर यह बातें आई उसके कारण यह रिएक्शन हो रहा है। मैं नहीं समझता कि यह उचित है हिंसा किसी भी स्थिति में उचित नहीं माना जाता.

इसको प्रधानमंत्री जी को देश के सामने आकर बात करना चाहिए स्थिति स्पष्ट करना चाहिए ना केवल राष्ट्रीय स्तर पर वैश्विक स्तर पर भी इसकी प्रतिक्रिया हुई है प्रधानमंत्री चुप्पी तोड़ी और इस मामले में उनका बयान सामने आना चाहिए इस हालात में बिगड़ने देने के बजाय संभालने की आवश्यकता है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने लोगों से अपील करते हुए कहा कि सभी लोग संयम और शांति बरतें यह मैं सभी छत्तीसगढ़ के प्रदेशवासियों से भी अपील करूंगा.

इस मामले को ज्यादा तूल ना दे खास कर जो सोशल मीडिया में जो लोग कमेंट कर रहे हैं वह जिम्मेदार व्यक्ति नही है।

इस मामले को ज्यादा तूल ना दे खास कर जो सोशल मीडिया में जो लोग कमेंट कर रहे हैं वह जिम्मेदार व्यक्ति नहीं है। माहौल को खराब करना बहुत आसान है लेकिन माहौल को शांत बनाए रखना उतना ही कठिन काम है सबकी जिम्मेदारी है संयम बरतें.

खाद की कमी पर सीएम ने कहा कि कल कृषि मंत्री ने पत्र लिखा कि यूरिया जितना मई महीने में आना था वह नहीं पहुंचा है.लगातार उस में कटौती की जा रही है।60% यूरिया पहुंचा है 39% डीएपी है। यह जो खाद की कमी हो रही है इसका खामियाजा किसान ही भूखतेगा.

भारत सरकार इस मामले में अभी तक कोई जवाब नहीं दे रही है। कृषि का महीना है किसान अपने खेती किसानी की तैयारी में जुट जाते हैं.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: