Trending Nowदेश दुनिया

उफनते नाले में डूबते युवक को महिला ने बचाया, 8 महीने का बच्चा किनारे रख कर लगाई छलांग

भोपाल : मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल से करीब 80 किलोमीटर दूर नजीराबाद गांव में रहने वाली 32 साल की महिला ने बहादुरी की मिसाल पेश करते हुए एक किसान को डूबने से बचा लिया. इस दौरान उसने इस बात की भी परवाह नहीं की कि उसका 8 महीने का एक बच्चा भी है.

महिला ने 2 किसानों को उफनते नाले में डूबता देखा तो 8 महीने के बेटे को जमीन पर रखकर नाले के तेज बहाव में छलांग लगा दी और एक किसान की जान बचा ली, जबकि दूसरा किसान तेज बहाव में बह गया, जिसका शव अगले दिन बरामद किया गया.

नजीराबाद टीआई बीपी सिंह ने ‘आजतक’ से बात करते हुए बताया कि गुरुवार एक अगस्त को नजीराबाद के पास बहने वाले नाले में तेज बारिश के बाद अचानक पानी का स्तर बढ़ गया था. इस दौरान अपने खेत में दवा का छिड़काव करने गए राजू और जितेंद्र नाम के दो किसान नाले के एक छोर पर खड़े हो गए, जबकि उनकी बाइक दूसरे छोड़ पर खड़ी थी. बारिश के बाद नाले में पानी का बहाव तेज़ था, लेकिन इसके बावजूद दोनों नाला पार करने लगे.

नाले के किनारे पर खड़े लोगों ने दोनों को खूब समझाया, लेकिन दोनों नहीं मानें और नाले के बीचोबीच पहुंच गए और इस दौरान डूबने लगे. नाले के पास ही कंजरों की झुग्गियां हैं. जहां रहने वाली रवीना ने जब दोनों को डूबते देखा तो खुद की जान की परवाह किये बिना उसने अपने 8 महीने के बच्चे को नीचे रखा और उफनते नाले में कूद गई.

रवीना ने जितेंद्र नाम के शख्स को तो बचा लिया जबकि राजू तेज़ बहाव में बह गया. राजू का शव अगले दिन नाले में आगे की ओर मिला जब जलस्तर कम हुआ. पुलिस को महिला के साहस के बारे में पता चला तो नजीराबाद टीआई बीपी सिंह ने बहादुरी की प्रशंसा करते हुए रवीना को 1 हज़ार रुपये के नगद पुरस्कार से सम्मानित किया.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: