Trending Nowदेश दुनिया

PFI के बंद के दौरान हिंसा, RSS दफ्तर पर फेंका गया पेट्रोल बम, बसों में भी तोड़फोड़

तिरुवनंतपुरम : केरल में नेशनल इन्वेस्टिगेटिव एजेंसी (NIA) की छापेमारी के विरोध में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (PFI) ने बंद बुलाया था, लेकिन कन्नूर के पैय्यानूर में कुछ दुकानदारों ने अपनी दुकानें बंद करने से मना कर दिया. इस दौरान पीएफआई कार्यकर्ता और स्थानीय लोगों के बीच झड़प हो गई, जो देखते-देखते ही हिंसक झड़प में बदल गई. इससे पहले केरल के कई और शहरों में पीएफआई का उग्र प्रदर्शन देखने को मिला है.

RSS के दफ्तर पर फेंका गया पेट्रोल बम (Photo : ANI)

केरल में पीएफआई के बंद के दौरान कई शहरों से तोड़फोड़ की खबर है. त्रिवेंद्रम, कोल्लम और कोझीकोड से बसों और गाड़ियों में तोड़फोड़ की तस्वीरें सामने आई है. कोच्चि में PFI ने केंद्रीय एजेंसियों के छापों के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया. वहीं स्थानीय स्तर पर दुकानें बंद कराने की कोशिश की. जानकारी के मुताबिक यहां पुलिस ने प्रदर्शन कर रहे 5 लोगों को हिरासत में लिया है. पुलिस के मुताबिक वो कथित तौर पर दुकानों को नुकसान पहुंचा रहे थे.

हिंसा के दौरान बसों को पहुंचाया गया नुकसान (Photo : PTI)

कन्नूर में पीएफआई का विरोध प्रदर्शन और उग्र होता जा रहा है. यहां के मत्तानूर में आरएसएस (RSS) के एक कार्यालय पर पीएफआई के दो लोगों द्वारा पेट्रोल बम फेंकने की खबर है. न्यूज एजेंसी के मुताबिक इस मामले में जांच की जा रही है. इससे पहले केरल में कई जगहों पर पीएफआई के दुकानों, सार्वजनिक संपत्ति और होटलों को नुकसान पहुंचाने की भी खबर आई है.

NIA ने 22 सितंबर को देर रात देशभर में PFI के करीब 150 ठिकानों पर छापेमारी की. 15 राज्यों में एक साथ की गई इस छापेमारी को पूरा करने में एनआईए के 200 अफसरों ने कार्रवाई की. इसमें सौ से ज्यादा टेरर फंडिग के आरोपी गिरफ्तार किए गए हैं. बेहद सीक्रेट तरीके से प्लान किए गए इस ऑपरेशन में केरल से लेकर दिल्ली, यूपी तक एक्शन हुआ. इसमें PFI के राष्ट्रीय अध्यक्ष ओ. एम. ए. सलाम को केरल से गिरफ्तार किया गया. वहीं दिल्ली PFI प्रमुख परवेज अहमद को भी अरेस्ट किया गया.

PFI के प्रदर्शन को लेकर यूपी में अलर्ट

पीएफआई के बंद के एलान के बाद उत्तर प्रदेश सरकार की ओर से सभी जिला मुख्यालयों को अलर्ट रहने के लिए कहा है. शुक्रवार को जुमे की नमाज और PFI के बंदी के ऐलान को लेकर DGP ने सभी जिलों से सतर्क रहने के लिए कहा है. नमाज अता करने वाले प्रमुख स्थानों पर पैनी नजर रखी जाएगी. वहीं माहौल बिगाड़ने वालों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश भी दिए गए हैं. जबकि सोशल मीडिया टीम लगातार अफवाह फैलाने वालों की निगरानी कर रही है.

इस बीच केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी ने कहा कि केरल सरकार को पीएफआई के खिलाफ सख्त कदम उठाने चाहिए. राहुल गांधी ने पता नहीं क्यों उनकी (PFI) सुविधा के लिए अपनी यात्रा को एक दिन के लिए रोक दिया है. जब देश हित की बात हो, तब सभी पार्टियों को मिलकर काम करना चाहिए. पर उनका व्यवहार अलग है, वह अप्रत्यक्ष रूप से उनकी मदद कर रहे हैं.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: