Trending Nowशहर एवं राज्य

CG MAHADEV SATTA BREAKING : महादेव एप मामले में गिरफ्तार 4 आरोपितों की रिमांड फिर एक बार बढ़ी ..

CG MAHADEV SATTA BREAKING: Remand of 4 accused arrested in Mahadev app case extended once again..

रायपुर। महादेव एप सट्टेबाजी मामले में ईडी की गिरफ्त में दस दिन की न्यायिक रिमांड पर जेल भेजे गए चार आरोपितों को शुक्रवार को विशेष न्यायाधीश अजय सिंह राजपूत की कोर्ट में पेश किया गया है। जहां से एक बार फिर चारों आरोपितों की न्यायिक रिमांड 29 सितंबर तक बढ़ा दी है। अब इनको एक बार फिर 29 सितंबर को कोर्ट में पेश किया जाएगा। बता दें ईडी ने महादेव एप सट्टेबाजी में मनी लांड्रिंग का खुलासा किया था। इसके बाद से लगातार कार्रवाई कर रही है। अब तक छत्तीसगढ़ में ईडी कई लोगों को हिरासत में लेकर पूछताछ कर चुकी है। प्रदेश के कई बड़े कारोबारियों और अधिकारियों के ठिकानों पर ईडी दबिश दे रही है।

बता दें कि आज कोर्ट में बचाव पक्ष और ईडी की ओर से अधिवक्ता ने बहस की। जज ने दोनो पक्षों को सुनने के बाद चारों आरोपितों की न्यायिक रिमांड 29 सितंबर तक बढ़ाने का आदेश सुनाया। गौरतलब है कि महादेव एप सट्टेबाजी मामले जेल में बंद निलंबित एएसआइ चंद्रभूषण वर्मा, सतीश चंद्राकर, अनिल दम्मानी और सुनील दम्मानी से पूछताछ में ईडी को कई अहम जानकारी मिली थी। इसी के आधार पर ईडी की टीम ने ने जुबेस्ता हास्पिटल के संचालक डाक्टर दल्ला के से घंटों पूछताछ की थी।

दम्मानी बंधुओं की जमानत पर 20 को सुनवाई –

महादेव सट्टा एप में जेल में बंद अनिल दम्मानी और सुनील दम्मानी की ओर से उनके अधिवक्ता ने कोर्ट में जमानत के लिए आवेदन लगाया। इस आवेदन पर 20 सितंबर को ईडी अपना पक्ष रखेगी

देशभर में फैला जाल, अब तक 500 लोगों की गिरफ्तारी –

जानकारी के मुताबिक महादेव एप का जाल देशभर में फैला हुआ है। इस मामले में अब तक छत्तीसगढ़ में 500 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है, जिसमें रायपुर के 200 और दुर्ग-भिलाई के लगभग 300 सटोरिए शामिल हैं। सूत्रों के मुताबिक पिछले एक वर्ष के भीतर महादेव एप के जरिए 5000 करोड़ रुपये से अधिक का लेन-देन हुआ है। पुलिस ने जांच में 15 हजार से अधिक बैंक खाते के साथ ही कार्पोरेट खातों की जांच की है। महादेव एप के मुख्य सरगना सौरभ चंद्राकर व रवि उप्पल दुबई से आनलाइन सट्टा के कारोबार का संचालन करते हैं। ईडी के मुताबिक कार्पोरेट खातों के जरिए कालेधन को विदेश भेजा जा रहा है।

Advt_07_002_2024
Advt_07_003_2024
Advt_14june24
july_2024_advt0001
Share This: