Trending Nowशहर एवं राज्य

रेलवे जीएम को विधायक शैलेष ने दी उग्र आंदोलन की चेतावनी

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ की 22 ट्रेनें नहीं, बल्कि 42 ट्रेनें बंद हैं। यह जानकारी रेलवे जीएम आलोक कुमार ने विधायक शैलेष पांडेय को दी है। जीएम से मिलने पहुंचे जेडआरयूसीसी सदस्य व विधायक पांडेय ने दो टूक कहा कि शादी-ब्याह के सीजन में ट्रेनें बंद होने से लोग परेशान हो रहे हैं। तीर्थ यात्रा, परीक्षा और अन्य यात्राओं के लिए हर वर्ग के लोग ट्रेन पर निर्भर हैं। यदि ट्रेनें फिर से शुरू नहीं की गईं तो उग्र आंदोलन किया जाएगा।

विधायक पांडेय ने कहा कि रद्द किए गए ट्रेनों का परिचालन जल्द से जल्द शुरू किया जाए अन्यथा जनता के साथ उग्र आंदोलन किया जाएगा। ट्रेनें रद्द होने से बिलासपुर जोन के यात्री परेशान हैं। हजारों यात्री प्रतिदिन सफर करते हैं। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे देश में सबसे ज्यादा कमाई करने वाला जोन है, लेकिन रेलवे प्रशासन द्वारा 22 यात्री ट्रेनों को रद्द करना जनता के अहित में निर्णय है। 24 अप्रैल से 26 मई तक यात्री ट्रेनों का परिचालन रेलवे ने बाधित रखा है। विधायक ने जीएम से जीएम से रेलवे हेल्प डेस्क स्थापित करने की मांग की, जिससे लोगों को रद्द ट्रेनों की जानकारी मिल सके और उन्हें कोई परेशानी न हो।

रेलवे महाप्रबंधक आलोक कुमार ने ट्रेनों के संबंध में जानकारी देते हुए बताया कि कुल 343 ट्रेनों का परिचालन किया जाता था, लेकिन रेलवे बोर्ड के आदेशानुसार यात्री ट्रेनों को बंद रखा गया है। इसमें से 20 ट्रेनें पहले से ही बंद हैं और वर्तमान में 22 ट्रेनों को बंद रखा गया है। इसमें से 4 सप्ताहिक ट्रेन भी शामिल है। रेलवे प्रशासन प्रयासरत है की ट्रेनों का परिचालन जल्द सुलभ कर दिया जाए। इस दौरान पार्षद रामा बघेल, एल्डरमैन शैलेंद्र जयसवाल, अखिलेश गुप्ता बंटी उपस्थित थे।

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: