Trending Nowशहर एवं राज्य

88 कर्मचारी संगठनों के प्रांताध्यक्ष की कल अहम बैठक, अनिश्चितकालीन हड़ताल पर बनेगी रणनीति

रायपुर। छत्तीसगढ़ में पांच दिन तक कलम बंद हड़ताल के बाद भी शासन की ओर से महंगाई भत्ता देने के संबंध में कोई पहल नहीं होने पर अब कर्मचारी संगठन अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने की तैयारी में हैं। इसकी रणनीति बनाने के लिए रविवार को सभी 88 संगठनों के प्रांताध्यक्ष की रविवार को बैठक है।

इस बैठक में अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए तारीख तय की जाएगी। पांच दिन की हड़ताल में पहले ही सरकारी कामकाज ठप रहा और लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ा। यदि कर्मचारी संगठन अनिश्चित कालीन हड़ताल पर चले जाएंगे तो लोगों की परेशानी बढ़ जाएगी। स्कूली बच्चों की पढ़ाई में भी नुकसान होगा, क्योंकि शिक्षक संघ का एक धड़ा अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए अड़ गया है। दूसरे संगठन भी विचार कर रहे हैं।

छत्तीसगढ़ बनने के बाद यह पहला मौका था, जब राजपत्रित अधिकारी भी हड़ताल पर रहे। इंद्रावती भवन में तो पांच दिनों के लिए चतुर्थ श्रेणी कर्मचारियों से लेकर राजपत्रित अधिकारी तक सभी हड़ताल में शामिल हुए। इसके बाद हड़ताल के अंतिम दिन सामान्य प्रशासन विभाग द्वारा हड़ताली कर्मचारियों पर कार्रवाई के संबंध में पत्र जारी करने पर अब कर्मचारियों में नाराजगी है। सोशल मीडिया पर शासन के खिलाफ नाराजगी जाहिर कर रहे हैं। अब अनिश्चितकालीन हड़ताल पर जाने के लिए कर्मचारियों का दबाव अपने संगठनों पर बढ़ रहा है।

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: