Trending Nowशहर एवं राज्य

बड़े पैमाने पर गोबर खरीदने जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत में स्थापित किए जाएंगे गौठान

धमतरी। कलेक्टर पी.एस. एल्मा ने आज गोधन न्याय योजना की बैठक लेकर गोबर खरीदी की साप्ताहिक प्रगति की समीक्षा की। इस दौरान उन्होंने जिले में गोबर खरीदी को और अधिक विस्तारित करते हुए जिले की प्रत्येक ग्राम पंचायत में गौठान स्थापित कर गोबर खरीदी करने के निर्देश उप संचालक कृषि को दिए। बैठक में कलेक्टर ने गौठानों की विकासखण्डवार सक्रिय गौठानों में गोबर क्रय एवं जैविक खाद विक्रय की जानकारी लेकर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए। कलेक्टोरेट सभाकक्ष में आज सुबह आयोजित बैठक में कलेक्टर ने कहा कि यह शासन की फ्लैगशिप योजना है और इसे प्राथमिकता मानते हुए योजना का समुचित क्रियान्वयन करें। उन्होंने गौठानों में विकासखण्डवार गोबर खरीदी और कम्पोस्ट निर्माण की समीक्षा करते हुए मगरलोड और नगरी ब्लॉक में स्थित गौठानों में अपेक्षित गोबर खरीदी नहीं होने पर कलेक्टर ने नाराजगी जताते हुए कहा कि गौठानों में गोबर का ढेर नहीं दिखना चाहिए। यदि ऐसा दिखता है तो इसे जमीनी स्तर के कर्मचारियों की अकर्मण्यता मानी जाएगी। उन्होंने सभी सक्रिय गौठानों का सतत् निरीक्षण करने के निर्देश ब्लॉक नोडल अधिकारियों को दिए। इसके अलावा बैठक में अन्य आजीविकामूलक गतिविधियों के संचालन को जारी रखते हुए बाड़ी विकास, मछलीपालन, मुर्गीपालन, बकरीपालन सहित विभिन्न प्रकार के कार्यों को बेहतर ढंग से क्रियान्वयन करने के लिए संबंधित विभागों के अधिकारियों को निर्देशित किया। साथ ही गोबर खरीदी और जैविक खाद निर्माण के साथ-साथ पोर्टल में एंट्री का काम प्राथमिकता से करने के निर्देश कलेक्टर ने दिए। इसके अलावा नगरी विकासखण्ड में आवर्ती चराई के रकबे में विस्तार करते हुए गोबर का समुचित संग्रहण कराने के निर्देश जनपद पंचायत के सी.ई.ओ. को दिए। धमतरी विकासखण्ड के दो गौठान भटगांव और सारंगपुरी में किए जा रहे गोमूत्र क्रय की जानकारी देते हुए उप संचालक पशुपालन विभाग ने बताया कि इन गौठानों में अब तक 1523 लीटर गोमूत्र की खरीदी की गई है जिसकी कीमत 6092 रूपए है। साथ ही इसे उपचारित कर 400 लीटर गोमूत्र बेचा गया है जिसकी कीमत 1440 रूपए है। कलेक्टर ने इसमें तेजी लाने के लिए निर्देशित किया। बैठक में जिला पंचायत की मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्रीमती प्रियंका महोबिया ने सक्रिय गौठानों में उपलब्ध संसाधनों की जानकारी लेते हुए आवश्यकतानुसार पिट, वर्मी एवं नाडेप टांका, कोटना सहित अन्य साधन जल्द से जल्द मुहैया कराने के निर्देश सभी जनपद पंचायतों के सीईओ को दिए। बैठक में उप संचालक कृषि ने बताया कि जिले में कुल 323 सक्रिय गौठान हैं जिनमें ग्रामीण क्षेत्र में 315 और नगरीय निकायों में 08 गौठान (नगरनिगम धमतरी में तीन और शेष नगर पंचायतों में एक-एक) शामिल हैं। उन्होंने बताया कि इन गौठानों में अब तक 4 लाख 895 क्विंटल गोबर खरीदा गया तथा 60 हजार 677 क्विंटल वर्मी खाद तैयार की गई है जिसका 55 प्रतिशत कम्पोस्ट बेचा जा चुका है, जबकि 12 हजार 833 क्विंटल वर्मी कम्पोस्ट बेचना शेष है। इसके अलावा उप संचालक कृषि ने साप्ताहिक गोबर खरीदी की जानकारी बैठक में दी। बैठक में अपर कलेक्टर श्री चंद्रकांत कौशिक सहित कृषि एवं संबद्ध विभागों के अधिकारी उपस्थित थे।

https://jantaserishta.com/local/chhattisgarh/–1605681

R.O. No. 12237/11

dec22_advt2 - Copy
Share This:
%d bloggers like this: