Trending Nowशहर एवं राज्य

सड़क निर्माण परियोजनाओं के कार्य समय सीमा में पूर्ण करें: मुख्य सचिव

  • मुख्य सचिव ने राष्ट्रीय राजमार्ग सड़क परियोजनाओं के कार्यों की समीक्षा की

रायपुर : मुख्य सचिव अमिताभ जैन ने आज यहां मंत्रालय महानदी भवन से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये प्रदेश के विभिन्न राष्ट्रीय राजमार्ग सड़क परियोजनाओं की समीक्षा की। बैठक में राष्ट्रीय राजमार्ग और राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के अंतर्गत शीघ्र पूर्ण होने वाले कार्य, लंबित कार्य एवं सड़कों के प्रगतिरत कार्यों की विस्तार से समीक्षा हुई। बैठक में बस्तर संभाग के अंतर्गत सड़क परियोजनाओं के कार्यों की प्रगति की भी समीक्षा की गई। बैठक में डीजीपी श्री अशोक जुनेजा एवं लोक निर्माण विभाग के सचिव श्री सिद्धार्थ कोमल परदेशी भी मौजूद थे। मुख्य सचिव ने राष्ट्रीय राजमार्ग सड़क परियोजना के कार्यों की समीक्षा के दौरान सड़कों के निर्माण के लिए मुआवजा, भूमिअर्जन, वृक्ष विदोहन जैसे कार्यों के लिए वन विभाग, लोक निर्माण एवं राष्ट्रीय राजमार्ग के अधिकारियों को आपसी समन्वय से कार्य कराने के निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि सड़कों के निर्माण कार्य किसी भी तरह रूकने नही पाये, सभी आवश्यक कार्य समय पर पूर्ण किए जाएं।

बैठक में बिलासपुर जिले में राष्ट्रीय राजमार्ग के अंतर्गत बिलासपुर से उरगा मार्ग, कोरबा जिले में पथरापाली से कटघोरा, चांपा से कोरबा-छुरी-कटघोरा और उरगा से पत्थलगांव मार्ग के कार्यों की समीक्षा की गई। इसी तरह से रायगढ़ जिले में उरगा से पत्थलगांव, सरगुजा में अम्बिकापुर से पत्थलगांव एवं अंम्बिकापुर से रामानुजगंज गढ़वा मार्ग के संबंध में अधिकारियों से जानकारी ली गई। मुख्य सचिव ने जशपुर जिले में पत्थलगांव से कुनकुरी मार्ग और दुर्ग रायपुर बायपास भारतमाला परियोजना और रायपुर से विशाखापट्नम भारतमाला परियोजना के कार्यों की प्रगति के संबंध में अधिकारियों से जानकारी ली। बैठक में बस्तर संभाग के अंतर्गत एलडब्ल्यू ई प्रभावित क्षेत्र के अंतर्गत बीजापुर आवापल्ली, बासागुडा, जगरगुण्डा मार्ग, बीजापुर मोदकपाल तारलागुड़ा और नेलसनार से कोडोली मिरतूर गंगालूर मार्ग की सड़कों के निर्माण की स्थिति के बारे में अधिकारियों से जानकारी ली।

इसी तरह से सुकमा जिले के अंतर्गत पैदागुड़म-गोलापल्ली मार्ग, कोन्टा से गोलापल्ली, चिंतलनार से मरियागुडा मार्ग और भेज्जी से चिंतागुफा मार्ग के कार्यों की समीक्षा की। इसी तरह से छोटेडोंगर से ओरछा मार्ग, नारायणपुर से सोनपुर मरोड़ा मार्ग, नारायणपुर से पल्ली बारसूर मार्ग तथा कांकेर जिले के कोयलीबेड़ा-प्रतापपुर-कलगांव-कोयलीबेड़ा और अन्तागढ़-बेड़मा मार्ग के निर्माण कार्यों के संबंध में अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए गए। बैठक में बस्तर संभाग में नये मोबाईल टॉवर लगाने हेतु भूमि उपलब्ध कराने एवं इसके लिए आवश्यक स्वीकृतियों के लिए नारायणपुर, कांकेर, बस्तर, सुकमा, दंतेवाड़ा, बीजापुर, कोण्डगांव जिले के कलेक्टरों को जरूरी कार्यवाही करने के निर्देश दिए। बैठक में बस्तर संभाग में भारत नेट परियोजना तथा अन्य परियोजनाओं के अंतर्गत आप्टिकल फाईबर केबल क्लियरेंस हेतु लंबित आबंटनों के संबंध शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। उन्होंने नवगठित जिले मोहला मानपुर और खैरागढ़ में मोबाईल कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए शीघ्र आवश्यक कार्यवाही करने के निर्देश अधिकारियों को दिए। बैठक में वन एवं गृह विभाग के प्रमुख सचिव श्री मनोज पिंगवा, एडीजी श्री विवेकानंद सहित लोक निर्माण, वन, राष्ट्रीय राजमार्ग, बीएसएनएल, रिलायंस जियो, चिप्स के अधिकारी शामिल हुए।

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: