Trending Nowशहर एवं राज्य

BREAKING : ED ऑफिस पहुंची शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत, पत्रा चॉल घोटाला मामले में होगी पूछताछ

Varsha Raut, wife of Shiv Sena MP Sanjay Raut reaches ED office, will be questioned in Patra Chawl scam case

मुंबई। पत्रा चॉल घोटाला मामले में शिवसेना सांसद संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत मुंबई में फोर्ट के बेलार्ड पियर में मौजूद ईडी ऑफिस पहुंच गई हैं. ईडी का आरोप है कि वर्षा राउत ने अनजाने व्यक्ति के साथ आर्थिक लेन-देन किया है. वर्षा राउत को आज ईडी अधिकारी संजय राउत के साथ आमने-सामने बैठा कर पूछताछ कर सकती है. संजय राउत की पत्नी वर्षा राउत को 1034 करोड़ के पत्रा चॉल घोटाला मामले में ईडी ने समन्स भेजकर आज पूछताछ के लिए बुलाया है. वर्षा राउत के साथ संजय राउत के भाई सुनील राउत और उनकी बेटी उर्वशी मौजूद हैं.

पत्रा चॉल घोटाला मामले में पीएमएलए कोर्ट ने शिवसेना सांसद संजय राउत को 8 अगस्त तक ईडी कस्टडी में भेजा है. राउत के साथ ही वर्षा राउत को भी ईडी ने समन भेज कर 6 अगस्त यानी आज सुबह 11 बजे पूछताछ के लिए ईडी कार्यालय बुलाया था. इसी पूछताछ के लिए वर्षा राउत ईडी कार्यालय पहुंची हैं.

वर्षा राउत पर करोड़ों की हेराफेरी का ईडी ने लगाया है आरोप –

ईडी का आरोप है कि वर्षा राउत के बैंक खाते में अनजाने व्यक्ति के अकाउंट्स से 1 करोड़ 8 लाख से ज्यादा का ट्रांजेक्शन हुआ है. वह व्यक्ति कौन है? इस बारे में ईडी को जानकारी हासिल करनी है. ईडी का आरोप है कि वर्षा राउत के खाते से कई संदिग्ध ट्रांजेक्शन हुए हैं. ईडी ने कोर्ट में दावा किया था कि प्रवीण राउत द्वारा किए पत्रा चॉल घोटाला से कमाए गए 112 करोड़ में से 1 करोड़ 6 लाख रुपए संजय राउत और वर्षा राउत के खाते में आए. इन्हीं पैसों से वर्षा राउत ने दादर में फ्लैट खरीदा. जब ईडी ने जांच शुरू की तब वर्षा राउत ने उन पैसों को लोन के तौर पर बताया और 55 लाख रुपए प्रवीण राउत की पत्नी माधुरी के खाते में ट्रांसफर कर दिए.

इसके अलावा संजय राउत के एक और कथित पार्टनर सुजीत पाटकर की पत्नी स्वप्ना पाटकर और वर्षा राउत ने मिलकर अलिबाग में जमीन खरीदी. ईडी का आरोप है कि इस तरह करोड़ों रुपए के कई संदिग्ध ट्रांजेक्शन वर्षा राउत के खाते में हुए हैं, जिनको लेकर पूछताछ करनी है.

सारे आर्थिक लेन-देन वर्षा राउत के नाम पर होने का आरोप –

पत्रा चॉल घोटाले का मामला हो या अलिबाग में जमीन के 8 प्लॉट्स खरीदने का मामला, ये सारे आर्थिक लेन-देन वर्षा राउत के नाम पर किए गए हैं. ईडी ने यह दावा करते हुए सारे कागजात सेशंस कोर्ट के सामने पेश किए थे.

इससे पहले की कार्रवाई में ईडी 11 करोड़ की संपत्ति कर चुकी है जब्त –

इससे पहले भी ईडी ने वर्षा राउत से 4 जनवरी को पूछताछ की थी. वह पूछताछ पीएमसी घोटाले को लेकर थी. पत्रा चॉल घोटाले के आरोपी प्रवीण राउत को फरवरी में अरेस्ट किया गया था. अब ईडी का दावा है कि इस घोटाले का मुख्य सूत्रधार संजय राउत हैं. प्रवीण राउत तो उस घोटाले का सिर्फ फ्रंटमैन है.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: