Trending Nowशहर एवं राज्य

जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड बोत्सवाना में बनाएगा 300 मेगावाट कोयला बिजली संयंत्र..सबसे ज्यादा बोली लगाकर जीता कांट्रेक्ट..जानिए पूरी खबर

देश-प्रदेश के अग्रणी औदयोगिक घराना जिंदल स्टील एंड पावर लिमिटेड ने बोत्सवाना देश में सबसे बड़ी बोली लगाते हुए 300 मेगावाट कोयले से चलने वाले बिजली संयंत्र के निर्माण का करार कर​ लिया है. उर्जा मंत्रालय के एक नोटिस में इसकी पुष्टि हुई है. 

इस बोली में चार कंपनियों को शार्ट लिस्ट किया गया था जिनमें जेएसपीएल, अफ्रीकन एनर्जी रिसोर्सेज और मिनर्जी को छोड़कर एक ने नाम वापस ले लिया था. बोत्सवाना देश के पास 200 अरब टन से अधिक कोयला संसाधन हैं और जलवायु परिवर्तन के कारण कोयले पर हाल के दबाव के बावजूद हीरा-निर्भर देश आर्थिक विकास के लिए अपने कोयले का मुद्रीकरण करने के लिए आगे बढ़ रहा है।नोटिस में कहा गया है कि इस अनुबंध में डिजाइन निर्माण, वित्त, निर्माण, स्वामित्व, संचालन, रखरखाव शामिल है साथ ही बोत्सवाना में एक 300MW शुद्ध ग्रीनफील्ड कोयला आधारित बिजली संयंत्र के संचालन में जेएसपीएल ही मुखय भूमिका निभाएगा.

जिंदल कंपनी, प्लांट के निर्माण का वित्तपोषण करेगी और बोत्सवाना पावर कॉरपोरेशन (बीपीसी) को बिजली बेचने से लेकर दोनों पक्षों के बीच बातचीत की शर्तों के तहत अपने निवेश की भरपाई करेगा। राज्य के स्वामित्व वाली मोरुपुले कोयला खदान और मिनर्जी की मासामा देश की एकमात्र संचालित कोयला खदानें हैं।

जिंदल बोत्सवाना के कंट्री हेड नीरज सक्सेना ने किसी सवाल का जवाब तो नही दिया मगर कंपनी ने नवंबर 2021 में रॉयटर्स को बताया था कि वह 2022 में दक्षिण-पूर्वी ममामाबुला कोलफील्ड्स में एक कोयला खदान का निर्माण शुरू करेगी, जिसका लक्ष्य निर्यात बाजार और नियोजित कोयला बिजली संयंत्र की आपूर्ति करना है

यूक्रेन पर रूस के आक्रमण ने वैश्विक ऊर्जा संकट को जन्म दिया है, जिससे कोयले की मांग में वृद्धि हुई है। बोत्सवाना ने पिछले महीनों में मोज़ाम्बिक और नामीबिया के माध्यम से यूरोप में कोयले के निर्यात में वृद्धि की है, देश की दो परिचालन खदानों के साथ और अधिक नए सौदे सुरक्षित करने की तलाश में हैं।

जानते चलें कि यह एकमात्र जीवाश्म ईंधन आधारित बिजली संयंत्र है जिसे दक्षिणी अफ्रीकी देश अगले 20 वर्षों तक चलाने की योजना बना रहे हैं.

R.O. No. 12237/11

dec22_advt2 - Copy
Share This:
%d bloggers like this: