Trending Nowदेश दुनिया

BJP LEADER MURDER UPDATE : रूसी यौनकर्मियों के साथ पति का विवाहेतर संबंध, बीजेपी नेत्री की हत्या, वायरल ऑडियो में बड़ा खुलासा

Husband’s extramarital affair with Russian sex workers, BJP leader murdered, big disclosure in viral audio

डेस्क। भाजपा नेत्री के परिजनों ने बड़ा आरोप लगाया है. मायके वालों का कहना है कि आरोपी का अंतरराष्ट्रीय सेक्स रैकेट से संबंध था. उन्होंने बातचीत की ऑडियो कॉल रिकॉर्डिंग में लड़कियों की सौदेबाजी का दावा किया है. जिला पंचायत सदस्य की पिछले बुधवार को संदिग्ध परिस्थितियों में मौत हो गई थी. अब नेत्री की संदिग्ध मौत के मामले में रोज कोई ना कोई नया खुलासा हो रहा हैं. ऐसा बताया जा रहा है कि पिछले कुछ समय से श्वेता सिंह को अपने जीवन के लिए खतरा महसूस हो रहा था, इसलिए श्वेता ने अपने पति के फोन कॉल रिकॉर्ड करना शुरू कर दिया था. अब यह ऑडियो कॉल रिकॉर्डिंग सामने आई, जिसमें भाजपा नेत्री का पति दीपक लड़कियों की सौदेबाजी कर रहा है.

बांदा में जिला पंचायत सदस्य (डीडीसी) श्वेता सिंह गौर की मौत के बाद कॉल रिकॉर्डिंग सामने आई है. रिकार्डिंग और श्वेता सिंह गौर के परिजनों के आरोपों के बाद दीपक गौर के तार अंतरराष्ट्रीय सेक्स रैकेट से जुड़ते नजर आ रहे हैं. श्वेता के परिजनों का आरोप है कि दीपक गौर रूसी, मोरक्कों और अफ्रीकी लड़कियों के लिए दलालों के साथ डील कर रहा था. बता दें कि यह ऑडियो रिकॉर्डिंग श्वेता के परिजनों के माध्यम से सामने आई है. श्वेता के परिजनों ने यह सारी चीजें मीडिया से साझा की हैं. परिजनों की मानें तो श्वेता ने अपनी मौत से पहले ये ऑडियो रिकॉर्डिंग अपने परिवार के साथ शेयर की थीं. श्वेता सिंह गौर के भाई ऋतुराज ने आरोप लगाया कि उसके जीजा (दीपक सिंह गौर) बहुत अय्याश और शराबी किस्म के हैं, रूसी लड़कियों को बुलवाने वाली बात छिपाने के लिए ही उन्होंने श्वेता दीदी की हत्या कर दी.

रूसी यौनकर्मियों के साथ विवाहेतर संबंध –

ऋतुराज ने कहा कि उसके जीजा रूसी यौनकर्मियों के साथ विवाहेतर संबंध थे. श्वेता के परिवार ने पति दीपक सिंह गौर, उनकी मां, पिता और बड़े भाई पर उनकी (श्वेता सिंह गौर) हत्या का आरोप लगाते हुए आपराधिक मामला दर्ज कराया है. तो वहीं, पुलिस के लिए श्वेता डेथ केस अभी भी एक मिस्ट्री बना हुआ है, जिसमें जांच कई बिंदुओं पर चल रही है. बता दें कि पुलिस की कई टीमें इन्वेस्टिगेशन में लगी हुई हैं. मामले में दीपक को अरेस्ट कर लिया गया है, लेकिन रिटायर्ड डीआईजी ससुर समेत अन्य आरोपी अभी भी फरार हैं.

वायरल ऑडियो में बड़ा खुलासा –

वायरल ऑडियो में कथित तौर पर दीपक रूसी लड़कियों को सप्लाई करने वाले ब्रोकर से कहता है, ‘मैं बांदा से आया हूं मुझे सुनील सिंह गौतम ने आपका नम्बर दिया है. व्यवस्था करनी थी. आप होटल भेजेंगे या मुझे आना पड़ेगा. रशियन या अफ्रीकन है? लड़की का फोटो और रेट भेज दीजिए तो हम सेलेक्ट कर लें.’ दूसरे ऑडियो में कथित तौर पर दीपक कहता है, ‘मैं कैश पेमेंट करूंगा तो उधर से ब्रोकर कहता है लड़की सड़क के पार खड़ी है, आप ऑनलाइन पेमेंट कर दीजिए.’ एक अन्य बातचीत में दीपक कहता है, ‘एक रशियन लड़की भेजिएगा या 20 हजार रुपए में दो लड़कियां कर दीजिए एक रशियन और एक इंडियन. फिर 23 हजार रुपए में रशियन और मोरक्कन लड़की के लिए सौदा तय होता है.

परिजनों ने लगाया उत्पीड़न का आरोप –

बता दें कि श्वेता सिंह गौर ने 27 अप्रैल को कथित तौर पर आत्महत्या की थी. वह जसपुरा ब्लाक के वार्ड-12 से जिला पंचायत सदस्य थीं. इस घटना के पीछे का कारण एक दिन पहले रात को पति व बीजेपी के क्षेत्रीय कद्दावर नेता दीपक सिंह गौर से झगड़ा माना जा रहा है. कुछ माह पहले से पति-पत्नी में लगातार विवाद चल रहा था. आखिर श्वेता की मौत तक जा पहुंचा. बीजेपी की स्थानीय नेता मृतक श्वेता सिंह की मौत को लेकर उनके कर्वी चित्रकूट निवासी परिजनों ने आरोप लगाया है कि उनकी खुशदिल बेटी को पति द्वारा आपसी राजनीतिक प्रतिस्पर्धा व अनैतिक रूप से बेटा पैदा करने के लिए सिलसिलेवार किए जा रहे उत्पीड़न के चलते मारा गया है.

दीपक सिंह गौर शराब कारोबारी –

बताते चलें कि दीपक सिंह गौर शराब कारोबारी भी है. उसने कारोबार व रसूख को बढ़ाने के लिए जिला पंचायत सदस्य का चुनाव भी लड़ा था, लेकिन हार का सामना करना पड़ा था. फिर क्षेत्र पंचायत सदस्य का चुनाव लड़ा तो जीत गया. दीपक बीजेपी के किसान मोर्चा का जिला उपाध्यक्ष भी रहा है. इस बार उसने जिला पंचायत सदस्य में क्षेत्र की महिला सीट वार्ड- 12 से श्वेता सिंह गौर को चुनाव मैदान में उतारा और वो जीत भी गईं. फिर श्वेता सिंह ने अपना राजनीतिक प्रतिनिधि पति दीपक सिंह को बना दिया.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: