Trending Nowदेश दुनियाशहर एवं राज्य

OMG : यौन इच्छाओं के लिए क्या करती हो? वीजा के लिए PAK उच्चायोग गई महिला से पूछे गए ऐसे सवाल

OMG: What do you do for sexual desire? Such questions were asked to the woman who went to PAK High Commission for Visa

पंजाब की एक महिला शिक्षाविद ने दिल्ली स्थित पाकिस्तान उच्चायोग के कुछ वरिष्ठ कर्मचारियों पर अभद्र व्यवहार और यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं. महिला ने पाकिस्तान जाने के लिए वीजा के लिए आवेदन किया था. इसी सिलसिले में वो पाकिस्तान उच्चायोग पहुंची थी.

लाहौर यात्रा का उद्देश्य पूछा गया

मामला साल 2021 का है. एक विश्वविद्यालय की वरिष्ठ प्रोफेसर एवं विभाग की प्रमुख ने पाकिस्तान जाने के लिए ऑनलाइन वीजा के लिए अप्लाई किया था. लाहौर यात्रा का उद्देश्य पूछे जाने पर उन्होंने अधिकारी से कहा, “मैं स्मारकों की तस्वीरें लेने और उन पर लिखने के लिए लाहौर जाना चाहती हूं. साथ ही एक विश्वविद्यालय भी जाना चाहती हूं, जहां मुझे व्याख्यान देने के लिए आमंत्रित किया गया.”

निजी सवाल और खालिस्तान के बारे में पूछा गया

महिला प्रोफेसर का आरोप है कि इसी दौरान एक और कर्मचारी आया और उससे निजी सवाल पूछने लगा, जिससे वो असहज हो गई. कर्मचारी ने मुझसे पूछा, “मैंने शादी क्यों नहीं की. मैं बिना शादी के कैसे रहती हूं? मैं अपनी यौन इच्छाओं के लिए क्या करती हूं?” यह भी पूछा गया कि क्या वो खालिस्तान का समर्थन करती हैं.

विदेश मंत्री एस. जयशंकर से लगाई गुहार

महिला प्रोफेसर का कहना है कि उन्होंने इस विषय को टालने के कई प्रयास किए, बावजूद इसके लगातार ऐसे सवाल किए गए. उन्होंने विदेश मंत्री एस. जयशंकर को भेजी गई अपनी शिकायत में इस मामले को उठाए जाने की मांग की है. साथ ही पोर्टल के माध्यम से पाकिस्तान सरकार से इस संबंध में शिकायत दर्ज कराई है. यहां तक कि बिलावल भुट्टो को भी लिखा है.

व्हाट्सएप चैट के स्क्रीनशॉट भेजे

उन्होंने विदेश मंत्री को पाक उच्चायोग के कर्मचारी के साथ व्हाट्सएप चैट के स्क्रीनशॉट भी भेजे हैं. आरोप लगाया है कि उसे भारत सरकार के खिलाफ लिखने के लिए कहा गया और अच्छे पारिश्रमिक की पेशकश की गई. हालांकि उन्होंने ऐसा करने से इनकार कर दिया.

दोनों अधिकारियों पर हो कार्रवाई

महिला प्रोफेसर का कहना है कि किसी ने उनके मामले पर ध्यान नहीं दिया. चाहती हूं कि भारतीय महिलाएं उनके इरादों को जानने के लिए पाक उच्चायोग जाएं. कहा कि दोनों अधिकारियों को उनके दुर्व्यवहार के लिए वापस पाकिस्तान भेज देना चाहिए.

 

 

 

 

 

Share This:
%d bloggers like this: