Trending Nowशहर एवं राज्य

CG BREAKING : ED भाजपा की एजेंट, चुनाव नजदीक आते ही बीजेपी सेंट्रल एजेंसियों के जरिये रचती है साजिश – सीएम

CG BREAKING: ED is agent of BJP, as soon as elections come near, BJP conspires through central agencies – CM

रायपुर। ED ने 2000 करोड़ के शराब घोटाले का छत्तीसगढ़ में आरोप लगाया है। आज मुख्यमंत्री ने ईडी के आरोपों और कथित घोटाले को लेकर ना सिर्फ जवाब दिया, बल्कि ईडी की मंशा पर भी सवाल खड़े किये। इस दौरान ईडी के आरोपों पर मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा को भी घेरा। मुख्यमंत्री ने ईडी को भाजपा का एजेंट बताया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि जैसे-जैसे चुनाव नजदीक आ रहा है, बीजेपी सेंट्रल एजेंसियों के जरिये साजिश कर रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने तो पहले ही बताया कि चुनाव तक ईडी यहीं स्थायी रूप से रहने वाली है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि जहां तक शराब की बात है शराब कार्पोरेशन के माध्यम से, जो विक्रय का निर्ण है, वो रमन सिंह के कार्यकाल में लिया गया। 2017-18 में आबकारी मद से लगभग 3900 करोड़ की प्राप्ति हुई है। हमारे शासनकाल में ये आंकड़े बढ़े हैं और वो आंकड़ा बढ़कर 6000 करोड़ हुआ है। तो जो बताया जा रहा कि घोटाले की वजह से राजस्व में कमी आयी है, वो ईडी के आरोप पूरी तरह से मनगढ़ंत हैं। जब राजस्व में डेढ़ गुना की वृद्धि होती है, तो आपका आरोप ऐसे भी मिथ्या हो जाता है। सीएजी की तरफ से हर साल ऑडिट में आबकारी विभाग को क्लीन चिट दी है। फरवरी 2020 में आपको याद होगा इनकम टैक्स विभाग ने आबकारी विभाग से संबंधित लोगों के ठिकानों पर छापेमारी की थी। उस दौरान मीडिया में खूब हल्ला हुआ था, कि किसी के घर पर नोट गिनने की मशीन लायी गयी है, तो किसी के यहां हजारों करोड़ मिले, लेकिन इनकम टैक्स विभाग की तरफ से कुछ भी नहीं बताया गया। तीन साल गुजर जाने के बाद भी ईडी ने क्या कार्रवाई की है। क्या किसी की चल अचल संपत्ति जब्त की गयी है। आईटी और ईडी यहां लगी है, चल अचल संपत्ति कहां जायेगा। क्यों जब्त नहीं की गयी। आज बता रहे हैं कि 2000 करोड़ का शराब घोटाला हो गया। भाजपा के एजेंट के रूप में सेंट्रल एजेंसियां काम कर रही है। ईडी का एकमात्र काम भाजपा को चुनाव में फायदा दिलाना है। आप सब जानते हैं कि भाजपा छत्तीसगढ़ में बेहद कमजोर है। उनके पास मुद्दे नहीं है। ईडी के अधिकारी भी आपस में बात करते हैं कि हमारे भरोसे बीजेपी चुनाव लड़ना चाहती है। आनन फानन में उन्होंने 2000 करोड़ का आरोप लगा दिया। ईडी भाजपा के एजेंट के रूप में काम कर रही है, मदद करना ईडी का काम है। तीन साल से ये अधिकारी है, किसी को कोई काम धाम नहीं है, उसी को बुलाना, उसी को पूछना, उसी को फंसाना के काम है। और घंटों बैठाये रखना। 2 सवाल रहेंगे और सुबह 10 बजे से बुलाकर रात 12 बजे छोड़ेंगे। पूछते हैं दो सवाल, 5 मिनट का काम है, लेकिन परेशान करना है।

आपको बता दें कि प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने छत्तीसगढ़ में कथित शराब घोटाले से जुड़े धन शोधन मामले में रायपुर के महापौर एवं कांग्रेस नेता एजाज ढेबर के बड़े भाई अनवर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार करने के बाद एजाज ढेबर के भाई को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) की सुरक्षा में अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश अजय सिंह राजपूत के समक्ष पेश किया गया था. कोर्ट ने ढेबर को चार दिन की रिमांड पर भेजा दिया है। इस दौरान ईडी ने प्रेस बयान जारी कर छत्तीसगढ़ में 2000 करोड़ के शराब घोटाले के आरोप लगाया है। ईडी ने कहा कि जांच में पता लगा है कि 2019 से 2022 के बीच राज्य में बिकी कुल शराब में से 30 से 40 फीसदी शराब अवैध थी। सरकारी शराब दुकानों में लिस्टेड ब्रांडेड शराब के साथ 30 से 40 प्रतिशत देसी शराब बेची गई. जिसका राजस्व सरकार को नहीं मिला। मुख्यमंत्री ने इस मामले में विस्तार से चर्चा की है।

april_2023_advt01
WhatsApp Image 2023-04-12 at 11.37.07 AM (1)
feb__04
feb__03
feb__01
feb__02
jan23_01
jan23_02
dec 2
Dec
jan_advt02
jan_advt03
Share This:
%d bloggers like this: