Trending Nowदेश दुनियाशहर एवं राज्य

CALIFORNIA HEATWAVE WILDFIRE : 2 की मौत, सुलग रहा कैलिफोर्निया, जंगल में फैली आग …

CALIFORNIA HEATWAVE WILDFIRE : 2 killed, California smoldering, wildfire spread…

डेस्क। कैलिफोर्निया सुलग रहा है. गर्मी बढ़ी हुई है. तापमान भी. पारा 37 से 47 डिग्री सेल्सियस के बीच घूम रहा है. इसकी वजह से दक्षिणी इलाके में जंगल की आग फैल गई है. जिसने 4500 एकड़ जमीन को जलाकर खाक कर दिया है. इस आग की वजह से अब तक दो लोगों की मौत हो चुकी है. 1500 घरों को खाली कराया गया है.

कैलिफोर्निया प्रशासन ने इस आग को द फेयरव्यू फायर नाम दिया है. इसकी वजह से रिवरसाइड काउंटी का करीब 2000 एकड़ का इलाका जल चुका है. कुल 4500 एकड़ जली जमीन में से सिर्फ पांच फीसदी इलाके की आग को ही बुझाया जा सका है.

जिन लोगों की मौत हुई है वो दोनों महिलाएं थीं. एक की उम्र 77 और दूसरी की 73 साल थी. नेशनल वेदर सर्विस ने एक्सट्रीम हीट वॉर्निंग जारी की थी. कहा था कि ये गर्मी और बढ़ता तापमान राज्य के सभी हिस्सों में कहर बरपा सकती है. रिवरसाइड काउंटी में तो पहले आग ने 500 एकड़ जलाया फिर शाम तक इसने 2000 एकड़ जमीन को खाक कर दिया.

रिवरसाइड काउंटी फायर डिपार्टमेंट के कैप्टन रिचर्ड कॉर्डोवा ने कहा कि आग से दो महिलाओं की मौत हुई है. गंभीर रूप से जले लोगों का अस्पतालों में इलाज चल रहा है. कई लोगों को गिबेल रोड से भी बचाया गया है. ये लोग चारों तरफ से आग से घिर गए थे.  द फेयरव्यू फायर की वजह से आशंका है कि 5000 इमारतों को खतरा है.

अब तक 1500 घरों को खाली करा लिया गया है. बाकियों को खाली कराया जा रहा है. इस समय करीब 265 फायर फाइटर्स और 38 फायर इंजन आग को बुझाने में लगे हैं. इसके अलावा चार हेलिकॉप्टर और छह एयर टैंकर्स भी आग बुझाने के लिए जीतोड़ प्रयास कर रहे हैं. कई जिलों में स्कूलों को बंद कर दिया गया है. बच्चों और बुजुर्गों के लिए सुरक्षा और सेहत संबंधी चेतावनी भी जारी की गई है.

कैलिफोर्निया में के बड़े इलाके में बिजली नहीं है. इसकी वज ह से लोग अपनी इलेक्ट्रिक कारों को जेनरेटर चलाकर चार्ज कर रहे हैं. कैलिफोर्निया में बिजली जाने के बाद लेवल-3 ग्रिड इमरजेंसी लागू की गई है. कहा गया है कि बिजली आने और जाने का कोई भरोसा नहीं है. क्योंकि ज्यादा गर्मी की वजह से बिजली की मांग बढ़ गई है.

पिछले 9 दिनों से कैलिफोर्निया में गर्मी बढ़ी हुई है. रात में भी अधिकतम तापमान रिकॉर्ड तोड़ रहा है. तटीय इलाकों में भी लोगों को राहत नहीं मिल रही है. जब तक पानी में हैं तब तक ही आराम है. उसके बाद फिर पसीना-पसीना हो रहे हैं. यूसीएलए के क्लाइमेटोलॉजिस्ट डैनियल स्वैन ने कहा कि सितंबर के महीने में यह हीटवेव एक रिकॉर्ड है.

बांधों में पानी की कमी की वजह से पहले हाइड्रोपावर प्रोजेक्ट्स की हालत खराब है. जिसकी वजह से बिजली की सप्लाई बाधित हो रही है. कई जगहों पर बिजली सप्लाई में राशनिंग की जा रही है. कुछ समय के लिए बिजली आती है फिर चली जाती है. सौर ऊर्जा के सहारे काम चल रहा है लेकिन उससे पूरे घर की बिजली सप्लाई डिमांड को पूरा नहीं कर सकते.

फिलहाल पूरे कैलिफोर्निया में हीटवेव की चेतावनी जारी है. तापमान लगातार बढ़ता जा रहा है. 6 सितंबर को तापमान ने 100 सालों का रिकॉर्ड तोड़ दिया था. 47 डिग्री सेल्सियस तापमान पहुंच गया था.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: