Trending Nowशहर एवं राज्य

BIG BREAKING : CMHO ने पद नहीं होने के बावजूद कर दी कर्मचारियों की भर्ती, विभाग ने 16 को किया बर्खास्त

बीजापुर। जिले के स्वास्थ्य विभाग में रिक्त पदों पर सीधी भर्ती पूरी हो जाने के बावजूद पूर्व CMHO डॉ सुनील भारती ने वेटिंग लिस्ट से 16 अन्य लोगों की भर्ती कर दी। मामला मीडिया में सामने आने के बाद CMHO को हटाकर जांच की गई। गड़बड़ी उजागर होने पर सारी भर्तियां निरस्त कर दी गईं। वहीं यह गड़बड़ी करने वाले डॉ भारती के खिलाफ फ़िलहाल कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

बीजापुर जिले में CMHO का प्रभार देख रहे डॉ अजय रामटेके ने इस मामले की जांच की। TRP न्यूज़ से बातचीत में डॉ रामटेके ने बताया कि वित्त विभाग से स्वीकृति के बाद बस्तर कनिष्ठ कर्मचारी बोर्ड की तरफ से बीजापुर में भी पिछले वर्ष मार्च-अप्रैल के महीने में विभिन्न पदों पर भर्तियां की गई थी। मगर पूर्व CMHO डॉ सुनील भारती ने भर्ती प्रक्रिया में शामिल प्रतीक्षा सूची में से 16 अन्य लोगों की भर्ती नवंबर के महीने में कर दी।

पद खाली हो तो होती है भर्ती

डॉ रामटेके ने बताया कि भर्ती सूची में शामिल उम्मीदवारों में से अगर किसी ने नौकरी ज्वाइन नहीं किया तो उसके स्थान पर प्रतीक्षा सूची से भर्ती की जाती है। मगर पिछले साल हुई भर्ती प्रक्रिया में सभी उम्मीदवारों ने ड्यूटी ज्वाइन कर ली थी। इसके बावजूद डॉ सुनील भारती ने वेटिंग लिस्ट में से 16 लोगों की भर्ती कर ली और अलग-अलग विकास खंडों में उनकी जॉइनिंग करा दी। गलत तरीके से जिनकी भर्ती की गई उनमे ग्रामीण स्वास्थ्य संयोजिका- 6 पद, लैब असिस्टेंट- 1 पद, फार्मसिस्ट ग्रेड 2- 2 पद, चौकीदार- 1 पद, धोबी- 2 पद, वार्डआया – 1 पद, वार्ड बॉय- 2 पद, मेस सर्वेंट – 1 पद शामिल हैं।

नेताओं के रिश्तेदार भी शामिल

सीधी भर्ती में गड़बड़ी की इस शिकायत के बाद कलेक्टर ने टीम बनाकर जांच करवाई। प्रभारी CMHO डॉ रामटेके द्वारा मामले की जांच के बाद कलेक्टर की अनुशंसा से भर्ती निरस्त करते हुए सभी 16 लोगों को बर्खास्त कर दिया गया। सूत्र बताते हैं कि गलत तरीके से भर्ती किये गए इन लोगों में कुछ नेताओं के रिश्तेदार भी शामिल हैं, वहीं स्वास्थ्य विभाग से जुड़े कुछ अधिकारियों-कर्मचारियों के निकट संबंधी भी उपकृत किये गए हैं। इस हेराफेरी में लाखों के वारे-न्यारे भी हुए, मगर घोटालेबाजों के सारे मंसूबे धरे के धरे रह गए हैं।

इस गड़बड़ी में पूर्व CMHO सुनील भारती के अलावा और कौन शामिल था इसका खुलासा फ़िलहाल विभाग ने नहीं किया है। उम्मीद की जा रही है कि भर्ती के दोषियों के खिलाफ जल्द ही मुख्यालय से कार्रवाई के आदेश जारी किये जायेंगे।
देखें सूची :

Share This:
%d bloggers like this: