Trending Nowशहर एवं राज्य

भोजन की गुणवत्ता पर सवाल खड़ा करते सीएएफ जावन का वीडियो वायरल, अब तेजी से वायरल हो रहा

कांकेर। सुरक्षा बलों के जवानों को दिए जाने वाले भोजन की गुणवत्ता पर सवाल उठाता एक वीडियो वायरल हो रहा है। वीडियो जिला जेल कांकेर की सुरक्षा में तैनात सीएएफ जवान का है, जिसमें वह मेस में बने भोजन की गुणवत्ता को लेकर नाराजगी जाहिर कर रहा है। जवान भोजन की गुणवत्ता ठीक नहीं होने के कारण उच्च अधिकारियों तक अपनी बात पहुंचाने के लिए वीडियो बनाने की बात कह रहा है। दूसरी ओर अधिकारी जवानों से भोजन की गुणवत्ता को लेकर किसी प्रकार की शिकायत नहीं मिलने की बात कह रहे हैं।

एक बार फिर से जवानों को दिये जाने वाले खराब भोजन का वीडियो एक जवान ने वायरल किया है। इससे पहले भी सुरक्षा बल के जवानों को दिए जाने भोजन की गुणवत्ता को लेकर वीडियो सामने आ चुके हैं। इस बार मामला कांकेर जिला जेल में सुरक्षा के लिए तैनात छत्तीसगढ़ आर्म्ड फोर्स के हवलदार बूटू शांडे से जुड़ा हुआ है। वायरल वीडियो रविवार रात बनाया हुआ बताया जा रहा है, जिसमें बुटू शांडे रविवार को जवानों के लिए बने विशेष भोजन का वीडियो बनाया है। जिसमें जवान ने सब्जी व दाल की गुणवत्ता पर सवाल खड़ा करता दिखाई दे रहा है। जवान का यह वीडियो बड़ी तेजी से वायरल हो रहा है। हालाकि अब तक इस वीडियो को लेकर अधिकारियों द्वारा पुष्टि नहीं की गई है।

वीडियो में क्या कह रहा है जवान
वायरल वीडियो में जवान रविवार रात बने भोजन में मछली की सब्जी में अत्यधिक मात्रा में पानी होने, मछली के केवल तीन टूकड़े मिलने और दाल में पानी की मात्रा अधिक होने की बात कह रहा है और अपने सामने रखे भोजन को वीडियो में दिखा रहा है कि उन्हें इस प्रकार का भोजन मिलता है। साथ ही सवाल कर रहा है कि क्या मेस कमांडर ऐसा ही खाना खाते है और अपने परिवार को खिलाते हैं।

इस संबंध में जब जिला जेल में सुरक्षा में पदस्थ हवालदार बूटू शांडे ने बताया कि वीडियो बनाकर उसका उद्देश्य वीडियो को वायरल करना नहीं था, वह अपनी शिकायत उच्च अधिकारियों तक पहुंचाना चाहता था। हमेशा इसी प्रकार का भोजन मिलने के प्रश्न पर उसने कहा कि प्रभारी बदलने पर भोजन का स्तर भी बदलता है। हमेशा एक जैसा भोजन नहीं मिलता है। उन्होंने कहा कि भोजन का अधिक पैसा लिया जाए, लेकिन भोजन अच्छा दिया जाए।

जेल विभाग से संबंधित नहीं
जिला जेल में सुरक्षा में तैनात जवान का वीडियो वायरल होने के बाद इस संबंध में जेल अधीक्षक खोमेंद्र मंडावी से पुछे जाने पर उन्होंने कहा कि सीएएफ के जवान सुरक्षा में तैनात हैं। जिनका अपना अलग मेस संचालित होता है और उसका संचालन भी वे स्वयं करते हैं। जेल विभाग से उसका कोई संबंध नहीं है।

जवान से नहीं मिली है शिकायत
जिला जेल में सुरक्षा के लिए तैनात सीएएफ की कंपनी के कंपनी कमांडर ए खाखा से इस संबंध में पुछे जाने पर उन्होंने कहा कि उन्हें किसी भी जवान से भोजन की गुणवत्ता खराब होने को लेकर कोई शिकायत नहीं मिली है। यदि किसी जवान को भोजन की गुणवत्ता को लेकर कोई शिकायत है तो उसे मुझे इस संबंध में अवगत कराना चाहिए।

Share This: