Trending Nowशहर एवं राज्य

शिक्षा का अधिकार के तहत निजी स्कूलों में प्रवेशित बच्चों की सही मॉनिटरिंग करें, समय सीमा की बैठक में कलेक्टर ने दिए निर्देश

धमतरी: मुख्यमंत्री वृक्षारोपण प्रोत्साहन योजना के तहत आगामी खरीफ मौसम में धान के बदले वृक्षारोपण करने वाले ज़िले के किसानों का चिन्हांकन कर लिया गया है। इस बार कुल 56 एकड़ में धान के बदले फलदार, इमारती वृक्ष लगाए जायेंगे। कलेक्टर पी.एस.एल्मा ने आज समय सीमा की बैठक के दौरान उप संचालक कृषि श्री मोनेश साहू को निर्देशित किया कि जल्द चिन्हांकित 30 किसानों की भूमि में जो पौधे लगाए जाने हैं, उसकी मांग वन और उद्यानिकी विभाग को भेजा जाए। इसी तरह धान के बदले अन्य फसल लगाने वाले 3388 किसानों का 2532 हेक्टेयर भूमि का चिन्हांकन कर लिया गया है। यहां अन्य वैकल्पिक फसल के तौर पर सुगंधित धान 838.64 हेक्टेयर, फोर्टीफाइड धान 92.50 हेक्टेयर, मक्का 231 हेक्टेयर, कोदो-कुटकी 141.30 हेक्टेयर, रागी 199.20 हेक्टेयर, अरहर 75.65 हेक्टेयर, उड़द 301.41 हेक्टेयर, मूंग 203 हेक्टेयर, कुल्थी .60 हेक्टेयर, तिल 10 हेक्टेयर, मूंगफली .20 हेक्टेयर, अन्य फसल 438.64 हेक्टेयर में लगाया जाना प्रस्तावित है। उप संचालक कृषि ने बताया कि किसानों को इन फसलों के लिए मांग अनुरूप बीज उपलब्ध कराने बीज निगम से व्यवस्था की जा रही है।

प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना के तहत किए जा रहे ई केवाईसी की 74 प्रतिशत की प्रगति को देखते हुए, कलेक्टर श्री एल्मा ने ऐसे सभी किसान जिनका ई केवाईसी नहीं हो पाया है, उनकी सूची संबंधित अनुविभागीय अधिकारी राजस्व को उपलब्ध कराने के निर्देश दिए हैं। इसके जरिए प्रगति लाने की कवायद की जाएगी। बैठक में कलेक्टर ने खाद, बीज भंडारण और विक्रय की प्रगति की जानकारी भी ली। बताया गया कि बीज भंडारण के 37 हजार 360 किं्वटल के लक्ष्य के विरुद्ध 37.47 प्रतिशत याने 13997.88 किं्वटल का भंडारण, और 35.27 प्रतिशत, (4937 किं्वटल) वितरण कर लिया गया है। बैठक में खरीफ 2022 के लिए उर्वरक भण्डारण एवं वितरण की जानकारी देते हुए बताया गया है कि जिले में 72 हजार 600 मीट्रिक टन के लक्ष्य के विरूद्ध अब तक 20202.05 मीट्रिक टन उर्वरक याने 27.83 प्रतिशत का भण्डारण कर लिया गया है। इसमें से दस हजार 555 मीट्रिक टन, 52.25 प्रतिशत उर्वरक किसानों को वितरित किया गया है।
Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: