Trending Nowदेश दुनियामनोरंजन

मशहूर कॉमेडियन राजू श्रीवास्तव के पार्थिव शरीर को दी गई मुखाग्नि, पंचतत्व में विलीन

दिल्ली: कॉमेडी के किंग राजू श्रीवास्तव का बुधवार को निधन हो गया था. उनके निधन से पूरा परिवार टूट सा गया है. उनका अंतिम संस्कार किया जा चुका है. राजू श्रीवास्तव के घर दिल्ली के द्वारिका से 9 बजे उनकी शव यात्रा निकली थी. राजू श्रीवास्तव को उनके बेटे आयुष्मान श्रीवास्तव ने मुखाग्नि दी. वो अब पंचतत्व में विलीन हो चुके हैं. राजू श्रीवास्तव के अंतिम दर्शन के लिए उनके करीबी दोस्त सुनील पाल और एहसान कुरैशी वहां पहुंचे थे. राजू श्रीवास्तव के दो बच्चे हैं बेटा आयुष्मान सितारवादक है, वहीं बेटी अंतरा असिस्टेंट डायरेक्टर हैं.

raju srivastav live updates Delhi funeral death news indian comedian -  Entertainment News India - Raju Srivastav Funeral Live: पंचतत्व में विलीन  हुआ राजू श्रीवास्तव का पार्थिव शरीर, नम आंखों से ...

तकरीबन 12 बजे किया गया राजू श्रीवास्तव का अंतिम संस्कार
राजू श्रीवास्तव के परिजनों ने जानकारी दी थी कि उनके पार्थिव शरीर को उनके भाई के घर पर रखा गया है. वहां से 35 किमी दूर निगम बोध घाट ले जाया गया, जहां तकरीबन 12 बजे उनका अंतिम संस्कार किया गया.

10 अगस्त को राजू श्रीवास्तव को पड़ा था दिल का दौरा
राजू श्रीवास्तव को 10 अगस्त को दिल का दौरा पड़ने के बाद दिल्ली के एम्स अस्पताल में भर्ती कराया गया था. दरअसल, राजू श्रीवास्तव होटल की जिम में वर्कआउट कर रहे थे. तभी अचानक ट्रेडमिल पर चलने के दौरान उन्हें दिल का दौरा पड़ा और वो नीचे गिर गए. नीचे गिरने की वजह से उन्हें सिर में गंभीर चोट आई थी. आनन-फानन में उन्हें दिल्ली के एम्स अस्पताल लाया गया, जहां डॉक्टर्स ने उन्हें तुरंत वेंटिलेटर पर शिफ्ट कर दिया. उनकी एंजियोप्लास्टी भी की गई थी. डॉक्टर्स ने उन्हें बचाने की हर संभव कोशिश की लेकिन 42 दिनों के संघर्ष के बाद भी वो उन्हें बचा नहीं पाए.

सुनील पाल और एहसान कुरैशी थे करीबी दोस्त
सुनील पाल और एहसान कुरैशी दो ऐसे दोस्त इंडस्ट्री से बने जिन्होंने राजू श्रीवास्तव का हाथ आखिरी वक्त तक नहीं छोड़ा. सुनील पाल ने राजू की सेहत को लेकर कई सारे वीडियोज भी अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर शेयर किए थे. उनमें से कुछ ऐसे वीडियोज भी थे जिनमें वो रोते हुए नजर आए थे. इस मुश्किल की घड़ी में वो परिवार के साथ खड़े हैं.

अमिताभ की मिमिक्री कर बने थे कॉमेडी किंग
राजू श्रीवास्तव को उनके आखिरी समय में अमिताभ बच्चन की ऑडियो क्लिपिंग भी सुनाई गई थी ताकि उन्हें उनकी आवाज सुनकर होश आ जाए, लेकिन ये नीति भी कारगर नहीं हो पाई. राजू श्रीवास्तव, अमिताभ बच्चन को अपना सब कुछ मानते थे. वो कहते थे कि उन्हीं की वजह से आज वो यहां तक पहुंचे हैं. उनकी मिमिक्री का जादू लोगों के सिर चढ़कर बोलता था.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: