Trending Nowशहर एवं राज्य

मां दंतेश्वरी के छत्र को रथारूढ़ कर फूल रथ की पहली परीक्रमा पूरी की गई

जगदलपुर। बस्तर दशहरा में मां दंतेश्वरी की छत्र को रथारूढ़ कर फूल रथ की पहली परीक्रमा मंगलवार की देर शाम को पूरी की गई। रियासत कालीन परम्परानुसार मां दंतेश्वरी के छत्र को दुमंजिला फूल रथ में आरूढ़ करवाया गया, जिसके उपरांत जिला पुलिस बल के जवानों द्वारा हर्ष फायर कर सलामी देने के बाद फूल रथ परीक्रमा रथ परीक्रमा मार्ग से होते हुए मां दंतेश्वरी के सिंहद्वार के सामने पंहुचने के बाद मां दंतेश्वरी के छत्र को रथ से उतारकर मंदिर में स्थापित किया गया। फूल रथ की परीक्रमा अनवरत पांच दिनों तक अर्थात 02 अक्टूबर तक जारी रहेगा।

बस्तर दशहरा के दुमजिला रथ को फूलों से सुसज्जित कर श्रीजगन्नाथ मंदिर के उत्तर द्वारा में लाया गया जहां से फूल रथ परीक्रमा मां दंतेश्वरी के छत्र को रथारूढ़ कर प्रारंभ की गई। इससे पूर्व मां दंतेश्वरी मंदिर के प्रधान पुजारी प्रेम पाढ़ी ने परंपरानुसार पूजा विधान संपन्न कर गाजे-बाजे के साथ मां दंतेश्वरी के छत्र को माता मावली मंदिर लाया गया। यहां देवी की पूजा-अर्चना के बाद छत्र श्रीजगन्नाथ मंदिर परिसर स्थित राम मंदिर में पूजा अर्चना के बाद मां दंतेश्वरी के छत्र को रथारूढ़ किया जाकर फूल रथ की परिक्रमा प्रारंभ किया जाकर श्रीजगन्नाथ मंदिर के पूर्व दिशा के सिंह द्वार में रोककर परंपरानुसार विशेष समुदाय की महिलाओं द्वारा नजर उतारनी रस्म के बाद जयकारों के साथ फूलरथ की परीक्रमा को संपन्न किया गया।

Share This:
%d bloggers like this: