Trending Nowशहर एवं राज्य

महादेव हत्याकांड में शामिल तपन को 17 साल बाद मिली जमानत

रायपुर महादेव महार हत्याकांड में सुप्रीम कोर्ट ने तपन सरकार और उसके सहयोगी राजू खंजर को जमानत दे दी है। सोमवार को दुर्ग कोर्ट के न्यायाधीश शैलेश तिवारी की कोर्ट ने दोनों की रिहाई का आदेश भी जारी कर दिया है। वर्तमान में तपन सरकार रायपुर और राजू जगदलपुर जेल में निरुद्ध है। एडवोकेट राजकुमार तिवारी के मुताबिक 17 वर्ष बाद तपन सरकार और उसके सहयोगी को जमानत मिली है।

हत्याकांड के बाद पहली बार दोनों आरोपी जमानत पर जेल से बाहर आएंगे। अब तक तपन को गिरफ्तारी के बाद कभी पेरोल पर नहीं छोड़ा गया था। बहुचर्चित गैंगस्टर महादेव हत्याकांड मामले में तपन सरकार सहित 13 आरोपियों को आजीवन कारावास की सजा सुनाई गई थी। जबकि उक्त मामले में 20 आरोपियों को साक्ष्य के अभाव में रिहा कर दिया गया था। वकील राजकुमार तिवारी के मुताबिक 11 फरवरी 2005 को गैंगस्टरों के बीच वर्चस्व की लड़ाई के चलते सुभाष चौक सुपेला में महादेव महार की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। तपन के खिलाफ कोर्ट में वर्तमान में 7 मामले विचाराधीन है। इन सभी मामलों में तपन को जमानत मिल चुकी है। लेकिन महादेव हत्याकांड जमानत नहीं मिलने के कारण वह बाहर नहीं आ पा रहा था।

महादेव के साथी संतोष की भी हत्या कर दी थी

इस मामले में महादेव के साथी धनजी उर्फ संतोष सिंह की भी हत्या की प्लानिंग थी। वह किस्मत से उस समय बच गया, लेकिन बाद में आरोपियों ने उसकी भी नेहरू नगर क्षेत्र में स्थित एक ढाबे के करीब गला रेतकर हत्या कर दी और उसके शव को केशकाल घाटी में ले जाकर फेंक दिया। हालांकि अंत तक इस मामले में हत्या की मुख्य वजह का खुलासा नहीं हो पाया। 10 जनवरी 2005 की रात ही पूरे मामले में षड़यंत्र रचा गया। सभी आरोपियों ने प्लानिंग कर चंद्रा-मौर्या टॉकीज के पास हथियार उपलब्ध कराए। इसके बाद सुभाष चौक पर घेराबंदी कर घटना को अंजाम दिया।

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: