Trending Nowशहर एवं राज्य

OPPOSITION UNITY : एकसाथ होंगे नीतीश, पवार, नायडू और ममता बनर्जी, जानिए कब और कहां ?

OPPOSITION UNITY: Nitish, Pawar, Naidu and Mamta Banerjee will be together, know when and where?

नई दिल्ली।  बीजेपी के खिलाफ माहौल बनना शुरू हो गया है. इसकी बानगी स्वर्गीय जननायक चौधरी देवीलाल की जयंती पर 25 सितंबर को हरियाणा के फतेहाबाद जिले में होने वाली सम्मान दिवस रैली में देखने को मिलेगी. इनेलो द्वारा आयोजित फतेहाबाद में होने वाली सम्मान दिवस रैली में नीतीश कुमार, तेजस्वी यादव, फरुख अब्दुल्ला, शरद पवार और ममता बनर्जी के शामिल होने की उम्मीद है.

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने इनेलो सुप्रीमो ओपी चौटाला की बिहार के उप-मुख्यमंत्री तेजस्वी यादव से फोन पर बात भी करवाई. इस दौरान उन्होंने 25 सितंबर को होने वाली सम्मान दिवस रैली का न्यौता दिया, जिसे तेजस्वी ने स्वीकार कर लिया. स्वर्गीय जननायक देवीलाल की जयंती पर होने वाली सम्मान दिवस रैली के लिए वह स्वयं चंद्रबाबू नायडू, फारूक अब्दुल्ला, ममता बनर्जी को भी निजी तौर पर मिलकर न्यौता देंगे.

विपक्षी नेताओं से मिल रहे नीतीश कुमार –

इससे पहले बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को पूर्व मुख्यमंत्री और इनेलो के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी ओम प्रकाश चौटाला से उनके गुरूग्राम स्थित आवास पर मुलाकात की थी. उनके साथ जनता दल (यू) के महासचिव केसी त्यागी और इनेलो के प्रदेशाध्यक्ष नफे सिंह राठी भी उपस्थित रहे. इस दौरान देश और प्रदेश के मौजूदा हालात पर चर्चा हुई और तीसरे मोर्चे को मजबूत करने के लिए विचार विमर्श हुआ.

सभी विपक्षी दलों का एकसाथ आना जरूरी- ओपी चौटाला –

इनेलो सुप्रीमो ने कहा कि बीजेपी से लोग बेहद परेशान हो चुके हैं. यही वजह है कि उनके खिलाफ माहौल बनना शुरू हो गया है. पूर्व सीएम ने आगे कहा कि अब समय आ गया है जब सभी विपक्षी दलों को एक साथ आना चाहिए. उन्होंने एक साल पहले ही तीसरे मोर्चे के गठन के लिए प्रयास शुरू कर दिए थे. अब नीतीश कुमार के एनडीए से अलग होने के बाद तीसरे मोर्चे की कवायद तेज हो गई है. इसी को लेकर उन्होंने अगस्त माह में पंजाब के पूर्व मुख्यमंत्री सरदार प्रकाश सिंह बादल से भी मुलाकात की थी.

उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव से भी तीसरे मोर्चे के बारे में विचार विमर्श किया जाएगा और वो जल्द ही उनसे मुलाकात करेंगे. साथ ही उन्हें रैली में आने का निमंत्रण भी देंगे. वहीं, स्वर्गीय जननायक देवी लाल जयंती पर होने वाली सम्मान दिवस रैली के लिए वो स्वयं चंद्रबाबू नायडू, फारूक अब्दुल्ला, ममता बनर्जी को निजी तौर पर मिलकर न्यौता देंगे.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: