Trending Nowशहर एवं राज्य

MANN KI BAAT 98TH EPISODE : दुनिया में बढ़ा भारतीय खिलौनों का क्रेज, कई देश भारत की UPI से प्रभावित, मोदी जी ने कही मन की बात

MANN KI BAAT 98TH EPISODE: The craze of Indian toys increased in the world, many countries affected by India’s UPI, Modi ji said Mann Ki Baat

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज मन की बात को संबोधित किया. उन्होंने कहा, ‘आप अपने मन की शक्ति तो जानते ही हैं. वैसे ही समाज की शक्ति से कैसे देश की शक्ति बढ़ती है, ये हमने मन की बात के अलग-अलग एपिसोड में अनुभव किया है और इसे स्वीकार भी किया है. पीएम मोदी ने कहा कि मुझे वो दिन याद है, जब हमने मन की बात में भार के पारंपरिक खेलों को प्रोत्साहन की बात की थी. तुरंत उस वक्त भारतीय खेलों से जुड़ने की, इनमें रमने की और इन्हें सीखने की देश में एक लहर सी उठ गई. बता दें कि मन की बात कार्यक्रम का प्रसारण हर महीने के अंतिम रविवार को किया जाता है.

पीएम मोदी ने कहा कि मन की बात में जब भारतीय खिलौनों की बात हुई तो देश के लोगों ने इसे भी हाथों-हाथ बढ़ावा दे दिया. अब तो भारतीय खिलौनों का इतना क्रेज हो गया है कि विदेश में इनकी डिमांड बहुत बढ़ गई है. पीएम मोदी ने कहा कि ‘मन की बात’ को आप सभी ने जनभागीदारी की अभिव्यक्ति का अद्भूत प्लेटफॉर्म बना दिया है. हर महीने, लाखों संदेशों में कितने ही लोगों के मन की बात मुझ तक पहुंचती है. पीएम मोदी ने कहा, ‘जब ‘मन की बात’ में हमने स्टोरी-टेलिंग की भारतीय विधाओं पर बात की तो इनकी प्रसिद्धि भी, दूर-दूर तक पहुंच गई. लोग ज्यादा से ज्यादा भारतीय स्टोरी टेलिंग की विधाओं की तरफ आकर्षित होने लगे.’

पीएम मोदी ने कार्यक्रम में उस्ताद बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार का जिक्र करते हुए कहा कि कुछ दिन पहले उस्तार बिस्मिल्लाह खान युवा पुरस्कार दिए गए. ये पुरस्कार म्यूजिक और परफॉर्मिंग आर्ट्स के क्षेत्र में उभर रहे प्रतिभाशाली कलाकारों को दिए जाते हैं. ये कला और संगीत जगत की लोकप्रियता बढ़ाने के साथ ही इसकी समृद्धि में अपना योगदान दे रहे हैं.

पीएम मोदी ने कहा, ‘हम देश की कर्मठता की जितनी चर्चा करते हैं, उतनी ही हमें ऊर्जा मिलती है. इसी ऊर्जा प्रवाह के साथ चलते-चलते आज हम ‘मन की बात’ के 98वें एपिसोड के मुकाम तक पहुंच गए हैं. आज से कुछ दिन बाद होली का त्योहार है. आप सभी को होली की शुभकामनाएं. हमें, हमारे त्योहार वोकल फॉर लोकल के संकल्प के साथ ही मनाने हैं.

वहीं डिजिटल इंडिया का जिक्र करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा, ‘तेजी से आगे बढ़ते हमारे देश में डिजिटल इंडिया की ताकत कोने-कोने में पहुंच रही है. एक एप है ईं-संजीवनी. इस ऐप से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से डॉक्टरी सलाह ले सकते हैं. इसके माध्यम से 10 करोड़ मरीज और डॉक्टर का एक-दूसरे से अद्भूत नाता है. भारत के लोगों ने तकनीक को कैसे अपने जीवन का हिस्सा बनाया है, यह इसका जीता-जागता उदाहरण है.’

भारत के यूपीआई की ताकत भी आप जानते ही हैं. दुनिया के कितने ही देश, इसकी तरफ आकर्षित हैं. कुछ दिन पहले ही भारत और सिंगापुर के बीच यूपीआई-पे नाऊ लिंक लॉन्च किया गया. अब सिंगापुर और भारत के लोग अपने मोबाइल फोन से उसी तरह पैसे ट्रांसफर कर रहे हैं, जैसे वे अपने-अपने देश के अंदर करते हैं. भारत का ईं-संजीवनी हो या यूपीआई ये एज ऑफ लिविंग को बढ़ाने में बहुत मददगार साबित हुए हैं.’

 

 

 

 

 

Share This: