Trending Nowशहर एवं राज्य

करवा चौथ: सुहागिनें कल खाएंगी सरगी 13 को निर्जला व्रत

रायपुर। करवा चौथ पर्व की तैयारियों को लेकर उत्साह छाने लगा है। 13 अक्टूबर को रखे जाने वाले निर्जला व्रत से एक दिन पहले बुधवार को सुहागिनें सरगी खाने की परंपरा निभाएंगी। 12 अक्टूबर को सास की भेजी मिठाई, फल का सेवन करेंगी। 13 अक्टूबर को दिनभर निर्जला व्रत रखकर शाम को पूजा करके चंद्रमा को अर्घ्य देकर पति के हाथों जल पीकर व्रत का पारणा करेंगी।पंजाबी सनातन सभा की महिलाओं के लिए जोरा स्थित पंजाब केसरी भवन में 13 अक्टूबर को दोपहर 3 बजे से सामूहिक करवा चौथ पूजा का कार्यक्रम रखा गया है। पंजाबी महिला मंडल की अध्यक्ष अनिता किंगर, महिला युवा अध्यक्ष अर्चना डोगर ने बताया कि 100 से अधिक महिलाएं सामूहिक पूजा में शामिल होंगी। करवा चौथ की पूजा के बाद मनोरंजक खेलों का आयोजन किया गया है। इसके पश्चात महिलाएं अपने अपने घर पर चांद देखकर व्रत तोड़ेंगी।

पंजाब सनातन सभा के प्रवक्ता जवाहर खन्ना ने बताया कि पंजाब केसरी भवन में महिलाओं के लिए सेल्फी जोन बनाया जा रहा है। महिलाएं 16 श्रृंगार करके सेल्फी जोन में फोटो खिंचवाएंगी। परिवारजनों के लिए भी मनोरंजक खेलों का आयोजन किया जाएगा।

बुधवार की रात अथवा गुरुवार को ब्रह्म मुहूर्त में महिलाएं सरगी खाने की परंपरा निभाएंगी। फल, मिठाई ग्रहण करने के बाद व्रत प्रारंभ होगा जो अगले दिन गुरुवार की रात को चांद निकलने तक जारी रहेगा। चांद देखने के बाद ही पारणा करेंगी। ज्योतिष के अनुसार राजधानी में रात्रि 8.15 बजे चंद्रोदय होगा। पूजा का मुहूर्त शाम 6 से 7.15 बजे तक शुभ है।

ऐसे करें पूजन

  • – ब्रह्म मुहूर्त में स्नान करके सरगी ग्रहण करके व्रत का संकल्प लें।
  • – पूजा घर में मिट्टी का कलश यानी करवा में जल भरकर देवों को स्थापित करें।
  • – धूप, दीप, चंदन, रोली, सिंदूर से पूजा की थाली सजाएं।
  • – पूजा के दौरान करवा चौथ की कहानी सुनें।
  • – चंद्रमा दिखाई देने पर छलनी से अर्घ्य देकर जल ग्रहण करें। इसके बाद व्रत का पारणा करें।
Share This: