Trending Nowदेश दुनिया

J-K: सुरक्षा बलों ने बीते 24 घंटों में जैश-ए-मोहम्मद के तीन आतंकवादियों को मार गिराया, भारी मात्रा में हथियार बरामद

श्रीनगर : जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को गुप्त सूचना मिली थी कि कुलगाम के अहवाटू इलाके में तीन आतंकी मौजूद हैं, जिसके बाद इलाके में पुलिस, सेना और केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (CRPF) द्वारा एक संयुक्त सर्च ऑपरेशन शुरू किया गया था. जैसे ही सुरक्षाबल संदिग्ध स्थान पर पहुंचे तो छिपे हुए आतंकियों ने अंधाधुंध गोलियां चलाईं. सुरक्षाबलों की इस जवाबी कार्रवाई में दो आतंकी मारे गए. जिसमें एक पाकिस्तानी भी शामिल है. इन आंतकियों से भारी मात्रा में हथियार भी बरामद किए गए.

इन आतंकियों की पहचान बटपोरा के मोहम्मद शफी गनी और टाकिया गोपालपोरा के मोहम्मद आसिफ वानी उर्फ ​​यावर के रूप में हुई है. पुलिस रिकॉर्ड के अनुसार, मारे गए दोनों आतंकवादियों को आतंकवादियों की श्रेणी में रखा गया था और वे प्रतिबंधित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (JeM) से जुड़े थे. पुलिस ने कहा कि दोनों आतंकी पुलिस/सुरक्षा बलों पर हमले और नागरिकों पर अत्याचार सहित कई आतंकवादी अपराध के मामलों में शामिल थे.

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने सेना और सीआरपीएफ के साथ मिलकर कुलगाम के बटपोरा गांव में इलाके में आतंकवादियों की मौजूदगी की सूचना के बाद संयुक्त घेराबंदी और तलाशी अभियान शुरू किया था. सर्च ऑपरेशन के दौरान जैसे ही संयुक्त तलाशी दल संदिग्ध स्थान पर पहुंचा, छिपे हुए आतंकवादी ने बचने के लिए नागरिकों के साथ-साथ संयुक्त टीम को भी निशाना बनाया. हालांकि नागरिकों को सुरक्षित स्थान पर पहुंचा दिया गया, लेकिन सेना के एक जवान और दो नागरिकों को गोलियां लगीं. उन्हें तुरंत इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया. इसके बाद एक जैश से जुड़ा एक पाकिस्तानी आतंकी अबू हुराह मारा गया.

कश्मीर के अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक (ADGP) विजय कुमार ने बताया कि मारा गया पाकिस्तानी आतंकी कई आतंकी घटनाओं में शामिल था. इसके अलावा वो स्थानीय युवाओं को आतंकी संगठन में शामिल करने में भी शामिल था. दोनों ऑपरेशन से आपत्तिजनक सामग्री, हथियार और गोला-बारूद, एक एके-56, दो एके-47, एक पिस्तौल, एक ग्रेनेड, चार मैगजीन और एक पिस्टल मैगजीन बरामद की गई. बरामद सभी सामग्रियों को आगे की जांच के लिए केस रिकॉर्ड में ले लिया गया है.

Share This:
%d bloggers like this: