Trending Nowशहर एवं राज्य

BREAKING : अगर हम झूठे हैं, तो हम पर लगाएं 1000 करोड़ रुपये का जुर्माना : बाबा रामदेव

BREAKING: If we are liars, impose a fine of Rs 1000 crore on us: Baba Ramdev

योग गुरु बाबा रामदेव के पतंजलि पर झूठे और भ्रामक प्रचार करने का आरोप लगाया गया है. जिसकी सफाई बाबा रामदेव ने बुधवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस कर दी. बाबा ने कहा, उनकी दवाएं शोध पर आधारित हैं. सत्यता साबित करने के लिए वो सुप्रीम कोर्ट के सामने परेड कराने के लिए भी तैयार हैं.

अगर हम झूठे हैं, तो हम पर लगाएं 1000 करोड़ रुपये का जुर्माना : बाबा रामदेव

योग गुरु स्वामी रामदेव ने हरिद्वार में प्रेस कॉन्फेंस करते हुए कहा, कल से अलग-अलग मीडिया साइट्स पर एक खबर वायरल हो रही है कि सुप्रीम कोर्ट (SC) ने पतंजलि को फटकार लगाई है. SC ने कहा कि अगर आप गलत प्रचार करेंगे तो आप पर जुर्माना लगाया जाएगा. .. हम SC का सम्मान करते हैं, लेकिन हम कोई गलत प्रचार नहीं कर रहे हैं. कुछ डॉक्टरों ने एक समूह बनाया है जो लगातार योग, आयुर्वेद आदि के खिलाफ प्रचार करता है. अगर हम झूठे हैं, तो हम पर 1000 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाएं, और हम मृत्युदंड के लिए भी तैयार हैं. लेकिन अगर हम झूठे नहीं हैं, तो उन लोगों को दंडित करें जो वास्तव में झूठा प्रचार कर रहे हैं. पिछले 5 वर्षों से रामदेव और पतंजलि को निशाना बनाकर दुष्प्रचार किया जा रहा है.

सुप्रीम कोर्ट ने पतंजलि को लगाई फटकार

सुप्रीम कोर्ट ने योग गुरु रामदेव द्वारा सह-स्थापित और हर्बल उत्पादों का कारोबार करने वाली कंपनी पतंजलि आयुर्वेद को कई रोगों के संबंध में अपनी दवाओं के बारे में विज्ञापनों में झूठे और भ्रामक दावे करने के प्रति मंगलवार को आगाह किया.

आईएमए ने पतंजलि पर लगाया आरोप

जस्टिस अहसानुद्दीन अमानुल्लाह और न्यायमूर्ति प्रशांत कुमार मिश्रा की पीठ ने इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) की याचिका पर सुनवाई करते हुए मौखिक टिप्पणी में कहा, पतंजलि आयुर्वेद के ऐसे सभी झूठे और भ्रामक विज्ञापनों को तुरंत रोकना होगा. अदालत ऐसे किसी भी उल्लंघन को बहुत गंभीरता से लेगी. शीर्ष अदालत ने टीकाकरण अभियान और आधुनिक दवाओं के खिलाफ रामदेव पर अभियान का आरोप लगाने वाली आईएमए की याचिका पर केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय और आयुष मंत्रालय तथा पतंजलि आयुर्वेद लिमिटेड को नोटिस जारी किया था.

 

 

 

 

 

 

Share This: