Trending Nowशहर एवं राज्य

BIG STATEMENT : कोई मोदी-मोदी नहीं कर रहा, ये सब मीडिया का है खेल, गुजरात-हिमाचल में घटेंगी BJP की सीटें : पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक

BIG STATEMENT: No one is doing Modi-Modi, it’s all media’s game, BJP’s seats will decrease in Gujarat-Himachal: Former Governor Satyapal Malik

डेस्क। भारतीय जनता पार्टी के वरिष्ठ नेता रहे और मेघालय के पूर्व राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने एक बार फिर केंद्र की मोदी सरकार और बीजोपी को निशाने पर लिया है। उन्होंने गुजरात और हिमाचल प्रदेश में हो रहे विधानसभा चुनावों के लेकर बड़ा बयान दिया है। हरियाणा के रेवाड़ी में उन्होंने कहा कि कोई मोदी-मोदी नहीं कर रहा है, यह सब मीडिया का खेल है। मलिक ने कहा कि जहां चुनाव हो रहे हैं, वहां बीजेपी की सीटें घटेंगी। उन्होंने कहा कि बीजेपी बंगाल, केरल, तमिलनाडु, महाराष्ट्र और राजस्थान मे भी चुनाव हार जाएगी। पूर्व राज्यपाल यहीं नहीं रुके उन्होंने यहां तक कह दिया कि आगामी लोकसभा में भी बीजेपी का पता ही नहीं चलेगा।

सत्यपाल मलिक ने उत्तर प्रदेश की राजनीति को लेकर भी बड़ी टिप्पणी की। उन्होंने कहा कि यूपी में पैसे के लालच में बीएसपी प्रमुख मायावती आखिर में आकर खेल कर देती हैं। उन्होंने कहा कि बाकी बीजेपी न तो पंजाब जीत रही है और न ही हरियाणा में उसे जीत मिल रही है। मलिक ने कहा कि जनता बीजेपी के खेल को समझ गई है
मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए पूर्व राज्यपाल ने कहा कि अंतर्राष्ट्रीय बाजार में गेहूं की कीमतों में इजाफा होगा। उन्होंने कहा कि इससे पहले ही अडाणी के पानीपत में गोदाम बनवा दिए गए। किसानों की फसलों का सही दाम नहीं मिला। मलिक ने कहा कि जब आंदोलन खत्म हुआ तो कुछ मुख्य मांगे थीं। मोदी सरकार ने कृषि कानूनों को वापस तो ले लिए, लेकिन उस समय किए वादे को पूरा नहीं किया।

सत्यपाल मलिक ने कहा कि किसानों पर दर्ज मुकदमे वापस हुए और न ही किसानों को एमएसपी का दाम मिला। उन्होंने कहा कि आज एमएसपी की गारंटी के कानून की बात ही नहीं हो रही। मलिक ने कहा कि अगर फिर से किसानों ने आंदोलन किया तो मैं हर जगह किसानों के बीच पहुंचूंगा। उन्होंने कहा कि राज्यपाल रहते मेरे ऊपर पर भी बहुत दबाव आया, लेकिन उस दबाव को मैंने नहीं माना।

पूर्व राज्यपाल मलिक ने कहा कि अहीर रेजिमेंट बहुत पहले ही बन जानी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि अहीरों का गौरवशाली इतिहास किसी से छिपा नहीं है। मलकि ने कहा कि रेवाड़ी का ही एक गांव कोसली ऐसा है, जहां एक घर में सेना में दो-दो लोग हैं। उन्होंने कहा कि यहां के सैनिकों ने काफी बलिदान दिया है।

Share This:
%d bloggers like this: