Trending Nowशहर एवं राज्य

BIG BREAKING : मंत्री के बाद विधायक की बारी, त्रिमूल के माणिक भट्टाचार्य की आज ED के सामने पेशी …

After minister it was the MLA’s turn, Trimul’s Manik Bhattacharya to appear before ED today.

पश्चिम बंगाल। पश्चिम बंगाल में एसएससी शिक्षक भर्ती घोटाले में पार्थ चटर्जी पर शिकंजे के बाद ED ने तृणमूल कांग्रेस विधायक माणिक भट्टाचार्य को समन जारी किया है. आज 12 बजे विधायक माणिक भट्टाचार्य को ED के सामने पेश होना हैं।
बंगाल में शिक्षक भर्ती घोटाले को लेकर ईडी का जांच का दायरा बढ़ता जा रहा है. प्रवर्तन निदेशालय माणिक भट्टाचार्य को समन भेजने से पहले उनके घर पर छापा मारा था. इससे पहले शिक्षक भर्ती घोटाले में 26 घंटे की पूछताछ के बाद ईडी ने ममता सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी को गिरफ्तार किया था.

इस खबर में ये है खास-

3 अगस्त तक ईडी की हिरासत में दोनों

ईडी ने कोर्ट से मांगी थी 14 दिन की कस्टडी

ईडी की जांच का बढ़ सकता और दायरा

3 अगस्त तक ईडी की हिरासत में दोनों

इसके अलावा प्रवर्तन निदेशालय ने पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी को भी गिरफ्तार किया था. ईडी ने अर्पिता मुखर्जी के घर से 21 करोड़ रुपये की नकदी और लाखों के गहने बरामद किए थे. साथ ही उनके घर से फॉरेन करेंसी भी ईडी ने बरामद की थी. बता दें कि कोर्ट ने पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी को 3 अगस्त तक ईडी की हिरासत में भेज दिया है.

ईडी ने कोर्ट से मांगी थी 14 दिन की कस्टडी

प्रवर्तन निदेशालय ने कोर्ट से दोनों की 14 दिन हिरासत की मांग की थी. शिक्षक भर्ती घोटाले को लेकर ईडी का कहना है कि अर्पिता मुखर्जी ने स्वीकार किया, उसके घर से मिले रूपये पार्थ चटर्जी के हैं. ईडी के अनुसार पार्थ चटर्जी और अर्पिता मुखर्जी की संयुक्त संपत्ति से जुड़े दस्तावेज मिले हैं. बताया जा रहा है कि ममत बनर्जी की सरकार में मंत्री पार्थ चटर्जी ने यह संपत्ति 2012 में खरीदी थी.

ईडी की जांच का बढ़ सकता और दायरा

ईडी की पूछताछ में अर्पिता ने स्वीकार किया कि उसके घर से मिले कैश पार्थ के हैं. उसे अर्पिता से जुड़ी कंपनी में लगाने की योजना थी. जानकारी के अनुसार कैश को अर्पिता के घर से एक-दो दिन में कैश को बाहर लाने का प्लान था. अब खबर है कि ईडी का घोटाले को लेकर जांच दायरा और बढ़ सकता है.

 

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: