Trending Nowदेश दुनिया

एसटीएफ का बड़ा एक्शन, प्रिंटिंग प्रेस के मालिक को पकड़ा

देहरादून; यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में अब तक की सबसे बड़ी कार्यवाई की है। शनिवार को आरआईएमएस कंपनी लखनऊ के मालिक राजेश चौहान को एसटीएफ उत्तराखंड ने पेपर लीक करने और केंद्रपाल व अन्य के माध्यम से सौदा करने के साक्ष्य के आधार पर गिरफ्तार कर लिया है। पेपर लीक मामले में अबतक शिक्षक, नेता सहित 25 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है। यूकेएसएससी पेपर लीक मामले में एसटीएफ की टीम ने शुक्रवार को धामपुर में बेसिक शिक्षा विभाग के एक शिक्षक के घर दबिश दी। एसटीएफ ने शिक्षक को हिरासत में लेकर उससे करीब चार घंटे बंद कमरे में पूछताछ की। यूकेएसएससी पेपर लीक कांड में उत्तराखंड एसटीएफ सहारनपुर में जल निगम में तैनात धामपुर निवासी ललित राज शर्मा को पहले ही हिरासत में लेकर जेल भेज चुकी है। ललित राज शर्मा ने एसटीएफ के सामने पेपर लीक कांड से जुड़े कई राज खोले। जांच एजेंसियां ललित राज की कॉल डिटेल के माध्यम से रोज नए खुलासे का चौंका रही है। जांच टीम मामले के आरोपियों को गिरफ्तार कर उनसे लगातार पूछताछ कर रही है। हालांकि पेपर लीक कांड का सरगना मोरना निवासी केंद्रपाल एसटीएफ की गिरफ्त से बचने के लिए चार दिन पहले लड़ाई के पुराने मामले में जमानत तुड़वाकर कोर्ट में सरेंडर कर चुका है। वहीं, शुक्रवार को मामले की कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए एसटीएफ ने धामपुर में एक बेसिक शिक्षा विभाग के शिक्षक के घर दबिश दी। टीम में शामिल करीब आधा दर्जन जवानों ने शिक्षक के घर की दीवार फांदकर अंदर घुसे। सिविल ड्रेस में एसटीएफ की इस कार्रवाई से कॉलोनी में कुछ देर के लिए सन्नाटा पसर गया। आरोप है एसटीएफ की टीम उत्तराखंड नंबर की गाड़ियों से मौके पर पहुंचीं। सूत्रों का कहना है एसटीएफ ने आरोपी शिक्षक को हिरासत में लेकर उससे बंद कमरे में करीब चार घंटे पूछताछ की। । लेकिन आरोपी बीमारी के चलते बेड रेस्ट पर होने की वजह से जांच एजेंसी उसे अपने साथ नहीं ले जा सकी। बताया जा रहा है कि आरोपी कई माह से रीढ़ की हड्डी में समस्या के चलते बेड रेस्ट पर है।

 

Share This: