Trending Nowदेश दुनिया

Bharat Bandh: किसानों के बंद का देशभर में असर, दिल्ली, मुंबई, गुरुग्राम में भारी जाम, आम जनता हो रही परेशान

नई दिल्ली: केंद्र के कृषि कानूनों के खिलाफ पिछले दस महीने से प्रदर्शन कर रहे किसानों ने आज भारत बंद बुलाया है. किसानों के भारत बंद का देश भर में असर दिख रहा है. दिल्ली, मुंबई, गुरुग्राम में भारी जाम लगा है. गाड़ियों की कई किलोमीटर लंबी कतार लगी है जिसमें लोग काफी देर से फंसे हुए हैं. आलम ये है कि कोई ऑफिस, कोई अस्पताल के लिए घर से निकला, लेकिन भारी जाम में फंस गए.

शाम चार बजे तक बंद का एलान है. ऐसे में जाम में लोग कब तक फंसे रहेंगे कह पाना मुश्किल है. कुल मिलाकर भारत बंद की कीमत आम लोग चुका रहे हैं. भारत बंद सुबह 6 बजे से शुरू हो गया है और शाम 4 बजे तक चलेगा. दिल्ली के अलग अलग बॉर्डर पर प्रदर्शन चल रहा है. स्थिति काबू में रहें, इसके लिए दिल्ली पुलिस ने भी कमर कस ली है.

भारत बंद की वजह से कोंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेसवे पर ट्रकों की लंबी कतार लगी है. एक भी गाड़ी आगे नहीं बढ़ पा रही है. एक ट्रक वाले ने बताया कि मेरठ जाना है लेकिन सुबह ही रोक दिया गया, अब यही रुके है. जहां पहुंचना है वहां से बार बार कॉल भी आ रहा है लेकिन फंसे पड़े है. वहीं दिल्ली के अक्षरधाम पर गाजियाबाद से दिल्ली आने वाले एक रास्ते पर ट्रैफिक रेंगता हुआ नजर आ रहा है जबकि बीच की लेन को एहतियातन बंद किया गया है.

भारत बंद का असर मुंबई अहमदाबाद हाइवे पर भी
किसानों के भारत बंद का असर मुंबई अहमदाबाद हाइवे पर दिख रहा है. इस हाइवे पर कई किलोमीटर लंबा जाम लग गया है. प्रदर्शन कर रहे किसानों ने हाइवे पर जबरन गाड़ियों को रोका है. हजारों यात्री हाइवे पर फंसे हुए हैं. हाइवे के रास्ते मुम्बई, ठाणे, नवी मुंबई की ओर जाने वाले लोगों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है.

दिल्ली से जुड़ी कई ट्रेनें रद्द हुई
किसान आंदोलन की वजह से ट्रेन सेवा पर भी असर पड़ रहा है. अब तक दिल्ली से जुड़ी कई ट्रेनें रद्द हुई हैं. नई दिल्ली से अमृतसर जाने वाली शान ए पंजाब सुबह 6.40 पर रद्द हो गई. नई दिल्ली-मोगा एक्सप्रेस भी सुबह 7 बजे रद्द हो गई. पुरानी दिल्ली-पठानकोट एक्सप्रेस भी रद्द हो गई. दिल्ली से कटरा जाने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस दिल्ली से सुबह 6 बजे चली लेकिन पानीपत स्टेशन पर खड़ी है. नई दिल्ली-अमृतसर शताब्दी और नई दिल्ली कालका  शताब्दी भी रद्द कर दी गई है. पंजाब के अमृतसर में भी किसानों ने रेलवे ट्रैक को जाम कर दिया है. हरियाणा के सोनीपत में किसानों ने सड़क पर बड़े बड़े पत्थर रखकर रास्ता रोक दिया है.

भारत बंद पर क्या बोले राकेश टिकैत?
किसान नेता राकेश टिकैत ने कहा, ”कानून कौन ले के आया, और किसकी सरकार है? आंदोलन उसी के खिलाफ होगा. हमारा आंदोलन सरकार के खिलाफ है. अगर 10 साल में भी सुधार करेंगे तो ये आंदोलन 10 साल तक जारी रहेगा. किसी के विचार को आप विचार से ही बदल सकते हो, बन्दूक की ताकत से विचार को नहीं बदल सकते.” टिकैत ने कहा कि आज शाम 4 बजे तक बंद रहेगा. लोगों से अनुरोध है कि लंच के बाद ही निकलें, नहीं तो जाम में फंसे रहेंगे. एम्बुलेंस को, डॉक्टरों को, ज्यादा ज़रूरतमंदों को निकलने दिया जाएगा. दुकानदारों से भी अपील की है कि आज दुकानें बंद रखें.

भारत बंद को लेकर नकवी ने विपक्ष पर साधा निशाना
भारत बंद को लेकर केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने विपक्ष पर निशाना साधा है. मुख्तार ने कहा कि विपक्षी पार्टियां बंजर जमीन पर खेती करने की कोशिश कर रही हैं. abp न्यूज से खास बातचीत में नकवी ने विपक्षी पार्टियों पर किसानों को गुमराह करने का आरोप लगाया है. कहा कि, कुछ राजनीतिक दलों के बहकावे में आकर किसान प्रदर्शन कर रहे हैं.

 संजय सिंह ने कृषि कानूनों की तुलना डेथ वारंट से की
किसानों के भारत बंद को लेकर आम आदमी पार्टी सांसद संजय सिंह ने abp न्यूज से बातचीत के दौरान केंद्र सरकार पर हमला बोला. संजय सिंह ने कृषि कानूनों की तुलना डेथ वारंट से की. संजय सिंह ने कहा कि, डेथ वारंट में जैसे कोई संशोधन नहीं होता वैसे ही कृषि कानून में भी सरकार किसी संशोधन के मूड में नहीं है. संजय सिंह ने केंद्र सरकार को तानाशाह बताया. टिकैत के कमजोर विपक्ष वाली बात पर संजय सिंह ने सहमति जताई, कहा विपक्ष को और मजबूती के साथ आगे आना चाहिए.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: