Trending Nowदेश दुनिया

Vedanta Aluminum 2021 में बनी देश में अक्षय ऊर्जा की सबसे बड़ी औद्योगिक उपभोक्ता, 28 लाख सर्टिफिकेट के साथ बाल्को रही भारत की सबसे बड़ी आरईसी खरीदार

ई दिल्ली। भारत में एल्युमीनियम और इसके वैल्यू एडेड उत्पादों का सबसे बड़ा उत्पादक वेदांता एल्युमीनियम बिजनेस 2021 में भारत में अक्षय ऊर्जा का सबसे बड़ा खरीदार रहा। कंपनी ने भारत के पावर एक्सचेंजों इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (आईईएक्स) और पावर एक्सचेंज इंडिया लिमिटेड (पीएक्सआईएल) में नवीकरणीय ऊर्जा की खरीद में अग्रणी रही।

कंपनी ने ओडिशा के झारसुगुड़ा स्थित एल्युमीनियम स्मेल्टर के लिए 2021 में करीब दो अरब यूनिट अक्षय ऊर्जा की खरीद की। इससे स्मेल्टर के जीएचजी उत्सर्जन में 1540 किलोटन कार्बन डाई ऑक्साइड से ज्यादा की कमी आई। वेदांत एल्युमिनियम की झारसुगुड़ा इकाई आईईएक्स में ग्रीन टर्म अहेड मार्केट (जी-टीएएम) प्लेटफॉर्म पर भारत की सबसे बड़ी अक्षय ऊर्जा खरीदार है।

वेदांता की अनुषंगी भारत एल्युमीनियम कंपनी (बाल्को) नवीकरणीय ऊर्जा के ट्रेडिंग सेशन में अग्रणी रही और अकेले नवंबर में 59 प्रतिशत आरई सर्टिफिकेट (आरईसी) की खरीद की। 2021 में कंपनी ने कुल 2,86,17,00 आरईसी की खरीद की।

वेदांता एल्युमीनियम के ईएसजी विजन के बारे में वेदांता लिमिटेड के एल्युमीनियम बिजनेस के सीईओ श्री राहुल शर्मा ने कहा, ‘हम 2050 तक नेट जीरो कार्बन के अपने लक्ष्य को पाने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इस दिशा में अपने तीन स्तंभों पर अपने प्रयासों को गति दी है – परिचालन में ऊर्जा दक्षता में लगातार सुधार, हमारे कुल ऊर्जा उपभोग में नवीकरणीय ऊर्जा की हिस्सेदारी बढ़ाना और जीवाश्म ईंधन के स्थान पर ऊर्जा के हरित एवं स्वच्छ विकल्पों को अपनाना। इसके लिए नई उभरती ग्रीन टेक्नोलॉजी का प्रयोग किया जा रहा है। भारत में 2021 में आरई का सबसे बड़ा औद्योगिक उपभोक्ता बनना हमारे ऊर्जा उपभोग में हरित ऊर्जा की हिस्सेदारी बढ़ाने के हमारे प्रयासों और लो-कार्बन परिचालन की ओर बढ़ते हमारे कदमों का प्रमाण है।’

आईईएक्स के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट एवं हेड – बिजनेस डेवलपमेंट रोहित बजाज ने कहा, ‘डे-अहेड कलेक्टिव ऑक्शन के साथ-साथ टर्म-अहेड कॉन्ट्रैक्ट तक की सुविधा देने वाले इंडियन एनर्जी एक्सचेंज (आईईएक्स) के ग्रीन मार्केट में इनोवेशन एवं टेक्नोलॉजी लाभ उठाते हुए बाजार प्रतिभागियों को सर्वाधिक किफायती दरों पर और सुगमता से सौर एवं गैर सौर अक्षय ऊर्जा में ट्रेडिंग का मौका दिया जाता है। ग्रीन मार्केट में अग्रणी औद्योगिक सहभागी के तौर पर वेदांता एल्युमीनियम बिजनेस ने वास्तव में कार्बन फुटप्रिंट को कम करने की दिशा में ग्रीन एनर्जी के उपयोग को बढ़ावा देने के लिए भारत के मैन्यूफैक्चरिंग उद्योग के समक्ष मजबूत उदाहरण प्रस्तुत किया है। हम भारत का बेहतर कल बनाने की दिशा में वेदांता एल्युमीनियम के सतत प्रयासों की भरपूर सराहना करते हैं।’

पावर एक्सचेंज इंडिया लिमिटेड (पीएक्सआईएल) के एमडी व सीईओ प्रभजीत कुमार सरकार ने कहा, ‘नवंबर, 2021 में आरईसी ट्रेडिंग सेशन में अग्रणी खरीदार बनने के लिए हम बाल्को को बधाई देते हैं। वेदांता एल्युमीनियम जैसी उद्योग जगत की अग्रणी कंपनियों द्वारा समर्पित तरीके से आरई को अपनाने की रणनीति बड़े पैमाने पर अन्य कंपनियों को ऊर्जा उपयोग में बदलाव के लिए प्रेरित करेगी। पावर एक्सचेंज इंडिया लिमिटेड (पीएक्सआईएल) ऊर्जा बाजार में नवीकरणीय ऊर्जा के विकल्प देते हुए उद्योग जगत को उनके ईएसजी लक्ष्यों को पाने में मदद कर रही है। ईएसजी के प्रति भारतीय कंपनियों की प्रतिबद्धता और ऊर्जा बाजार के माध्यम से बढ़ती दक्षता भारत में ऊर्जा के भविष्य को बढ़ने में अहम भूमिका निभाएगी।’

वेदांता लिमिटेड की इकाई वेदांता एल्युमीनियम बिजनेस भारत की सबसे बड़ी एल्युमीनियम उत्पादक है। वित्त वर्ष 2020-21 में 19.7 लाख टन उत्पादन के साथ कंपनी ने भारत के कुल एल्युमीनियम का लगभग आधा हिस्सा उत्पादित किया। यह मूल्य वर्धित एल्युमीनियम उत्पादों के मामले में अग्रणी है, इन उत्पादों का प्रयोग कई अहम उद्योगों में किया जाता है। देशभर में अपने विश्वस्तरीय स्मेल्टर्स, एलुमिना रिफाइनरी और पावर प्लांट्स के साथ कंपनी एक हरित कल के लिए विभिन्न कार्यों में एल्युमीनियम के प्रयोग को बढ़ावा देने और इसे ‘मेटल ऑफ द फ्यूचर’ के रूप में पेश करने के अपने मिशन को पूरा करती है।

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: