Trending Nowशहर एवं राज्य

UDAIPUR MURDER CASE : कन्हैयालाल के हत्यारों को भीड़ ने कोर्ट में पेशी के दौरान जमकर पीटा, देखें VIDEO

The killers of Kanhaiyalal were thrashed by the mob during their court appearance, see VIDEO

उदयपुर। राजस्थान के उदयपुर में हुई टेलर कन्हैयालाल की हत्या से जुड़े चार आरोपियों को सुरक्षा व्यवस्था के बीच आज एनआईए कोर्ट के सामने पेश किया गया था. कोर्ट में पेशी के दौरान आक्रोशित लोगों ने आरोपियों पर हमला कर दिया. कोर्ट ने इन चारों आरोपियों को 12 जुलाई तक एनआईए कस्टडी में भेज दिया है. इससे पहले उदयपुर की एक कोर्ट ने दो आरोपियों को शुक्रवार को एक दिन की ट्रांजिट रिमांड पर भेजा था.

कोर्ट में पेशी के दौरान पिटाई –

जयपुर की एनआईए कोर्ट में पेशी के दौरान आरोपियों पर हमला हुआ है. उन्हें भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच कोर्ट में पेश किया गया था. लेकिन उसके बावजूद आरोपियों को लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ा. पहले तो करीब 5 घंटे तक लगातार नारेबाजी होती रही. वकील फांसी की मांग करते हुए कोर्ट में घुस गए तो सुनवाई रूम का दरवाजा बंद करना पड़ा, लेकिन जब वो बाहर निकले तो जूते चप्पल और डंडों से पिटाई हुई, जब पुलिस उन्हें गाड़ी पर चढ़ा रही थी उस दौरान भी लोगों ने थप्पड़ों से पिटाई कर दी.

पिटाई का वीडियो आया सामने –

आरोपियों की पिटाई का वीडियो भी सामने आया है. इसमें दिखाई दे रहा है कि जब उन्हें पुलिस की गाड़ियों में चढ़ाया जा रहा था तभी उसके पीछे लोग पुलिस की सुरक्षा के बीच उन्हें पीटते हैं. एक आरोपी की गर्दन पकड़ते हुए उसे पीछे से थप्पड़ भी मारते हुए दिखाई दे रहे हैं. हालांकि पुलिस एक-एक करके उन चारों आरोपियों को गाड़ी में चढ़ाती है. पुलिस ने किसी तरह इन्हें खींचकर गाड़ी में बैठाया और रवाना किया. बताया जा रहा है कि इन आरोपियों की पेशी से पहले ही यहां मौजूद वकीलों ने आरोपियों को फांसी देने की मांग करते हुए नारेबाजी की थी.

पुलिस ने बाद में दो आरोपियों को किया था गिरफ्तार –

उदयपुर की घटना में जो बाद में दो और आरोपी मोहसिन और आसिफ गिरफ्तार किए गए हैं. ये दोनों मुख्य आरोपी गौस और रियाज के साथ साजिश और वारदात में शामिल थे. वारदात वाले दिन मौके पर दो बाइक लेकर मौजूद थे ताकि अगर वो पकड़े जाते तो भीड़ से छुड़ाकर ले जाएं. अगर आरोपियों की बाइक स्टार्ट नहीं बोती तो उन्हें बाइक पर ले भागें. इन दोनों आरोपियों को इस घटना की प्लानिंग के बारे में पूरी जानकारी थी. अगर कन्हैया लाल दुकान नहीं खोलता तो कन्हैया लाल को घर में घुसकर मारने की प्लानिंग कर रहे थे.

एनआईए को ट्रांसफर किया गया केस  –

कन्हैयालाल मर्डर के दोनों आरोपियों को अजमेर हाई सिक्योरिटी जेल में रखा गया है. शुक्रवार को दोनों आरोपियों को उदयपुर कोर्ट में पेश किया गया था, जिसके बाद कोर्ट ने दोनों आरोपियों को एक दिन के ट्रांजिट रिमांड पर भेज दिया था. इसके साथ ही उदयपुर की डीजे कोर्ट ने शुक्रवार को कन्हैयालाल केस को एनआईए को ट्रांसफर कर दिया है.

दुकान में घुसकर की थी कन्हैयालाल की हत्या   –

28 जून को उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की गला रेतकर हत्या कर दी गई थी. वारदात के बाद राजस्थान में जगह-जगह बवाल शुरू हो गए थे. उसी दिन शाम तक दो आरोपियों को पुलिस ने पकड़ लिया. बताया जा रहा है कि कन्हैयालाल के मोबाइल से नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट हुई थी. इसके चलते ही रियाज और गौस मोहम्मद ने उनकी हत्या कर दी थी. राजस्थान सरकार की ओर से घटना की जांच के लिए SIT का गठन किया गया था. बाद में कोर्ट ने इस केस को एनआईए को सौंप दिया था.

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: