Trending Nowदेश दुनिया

नए वर्ष में ग्रह-नक्षत्रों के बन रहे हैं ये शुभ योग, आपको दिलाएंगे सुख-समृद्धि और सफलता

Year 2022 : आप सभी को नये साल का बेसब्री से इंतजार होगा, साथ ही ये उम्मीदें भी होंगी कि नया साल आपके लिए शुभ हो। लेकिन ज्योतिष के मुताबिक आपका शुभ समय तब आता है, जब ग्रहों के अच्छे योग बनते हों। शुभ योग में जातक की किस्मत बदल सकती है। इसलिए आज हम आपको बताने जा रहे हैं, साल 2022 में आनेवाले वो शुभ संयोग, जब आपकी किस्मत आपका साथ देगी। पहले आपको बता दें ग्रहों की मौजूदा स्थिति। साल की शुरुआत ज्येष्ठा नक्षत्र में शनिवार के दिन होने वाली है, जिसके स्वामी शनि हैं। इस समय शनि शुक्र ग्रह के साथ दसवीं राशि मकर में स्थित हैं। वहीं बृहस्पति ग्रह कुंभ राशि में, राहु वृषभ राशि में तथा केतु वृश्चिक राशि में मौजूद है। आइए अब आपको बताएं कि ये ग्रह, कब अन्य ग्रहों के साथ मिलकर हमारे लिए शुभ योग का निर्माण करेंगे।

1. शश योग

यह योग पंच महापुरुष योगों में से एक है। शश योग तब बनता है जब कुंडली में शनि की एक विशेष स्थिति होती है। जब शनि अपनी स्वराशि या फिर अपनी उच्च राशि में स्थित होता है, तब यह योग तब बनता है। वर्ष 2022 के अधिकांश समय में मकर राशि यानी स्वराशि में स्थित है। ये सिर्फ 29 अप्रैल, 2022 से 12 जुलाई, 2022 तक के समय में इस राशि में नहीं रहेगा। यानी ये समय छोड़ दिया जाए, तो शनि लगभग पूरे साल जातकों को यह शुभ योग प्रदान कर रहा है।

क्या होंगे लाभ?

शश योग के कारण जातक की नेतृत्व क्षमता बेहतर होती है। वह व्यक्तिगत तथा पेशेवर जीवन में लोकप्रियता हासिल करता है और व्यापारिक सौदों में भी सफल होता है। इस योग वाले जातक अपने जीवन काल के अंत में सफलता की ऊंचाइयों को छूने में सक्षम होते हैं। जिनकी कुंडली में शनि मजबूत या शुभ स्थिति में है, उन्हें इस योग से विशेष लाभ होगा।

2. बुधादित्य योग

ये योग तब बनता है, जब सूर्य और बुध एक साथ गोचर करते हैं। इस साल बुध 8 अप्रैल, 2022 से 25 अप्रैल, 2022 तक सूर्य के साथ गोचर करेगा, तब बुधादित्य योग का निर्माण होगा। इस योग को ज्योतिष में अत्यधिक शुभ योग माना जाता है।

क्या होंगे लाभ?

यह योग जातक के लिए बुद्धि के जरिए लाभ अर्जित करने में मदद करेगा। बुधादित्य योग वाले जातक गंभीर से गंभीर परेशानियों को अपनी बुद्धि से दूर करने में सक्षम होते हैं। इस योग के साथ जातक अधिक ज्ञान अर्जित कर सकता है तथा उस ज्ञान को कई सकारात्मक परिणामों में बदल सकता है। विपरीत परिस्थितियों में जातकों को कई मुश्किलों व परेशानियों से गुज़रना पड़ सकता है, लेकिन इस योग की मदद से जातक सभी मुश्किलों का हल ढूंढने में कामयाब रहेंगे।

3. रूचक योग

इस योग का निर्माण तब होता है जब मंगल ग्रह अपनी स्वराशि में या अपनी उच्च राशि में स्थित हो। 26 फरवरी, 2022 से 7 अप्रैल, 2022 के दौरान मंगल अपनी उच्च राशि मकर में स्थित होगा और इस तरह यह जातकों के लिए रूचक योग का निर्माण करता है।

क्या होंगे लाभ?

यह योग पंच महापुरुष योगों में से एक है। इस योग के कारण जातकों में वीरता, जोश, उत्साह आदि गुणों का विकास होता है। इस योग में जातक को सरकारी नौकरी प्राप्त करने में सफलता मिलती है और जातक मुश्किल से मुश्किल कार्यों को आसानी से पूरा कर लेता है। इस योग की मदद से जातकों को पदोन्नति तथा करियर में प्रगति जैसे अन्य लाभ मिलेंगे।

4. गुरु मंगल योग

यह योग अत्यधिक लाभकारी योगों में से एक है। इस योग का निर्माण मंगल और बृहस्पति ग्रह की युति के कारण होता है। यह योग वर्ष 2022 में मई महीने में बन रहा है। बृहस्पति 13 अप्रैल, 2022 को मीन में प्रवेश करेंगे, और मंगल 17 मई 2022 को मीन राशि में प्रवेश करेगा।

क्या होंगे लाभ?

वर्ष 2022 में यह योग मीन राशि में बन रहा है, जिसके स्वामी गुरु हैं। इस वजह से यह योग अत्यंत लाभकारी है। इस योग के कारण जातक को आर्थिक लाभ, जीवन में समृद्धि, करियर में प्रगति, समाज में प्रतिष्ठा, वैवाहिक जीवन में सुख आदि की प्राप्ति होती है।

Share This: