Trending Nowशहर एवं राज्य

प्रदेश ने अनुभवी राजनेता को खो दिया… विधानसभा अध्यक्ष डॉ. महंत

रायपुर। विधान सभा अध्यक्ष डॉ.चरण दास महंत ने भानु प्रतापपुर के विधायक तथा विधान सभा उपाध्यक्ष मनोज सिंह मंडावी के आकस्मिक निधन पर गहरा शोक व्यक्त किया है। अपने शोक संदेश में डॉ. महंत ने कहा कि- मंडावी वरिष्ठ आदिवासी नेता थे। उन्होंने नवगठित छत्तीसगढ़ के गृह राज्यमंत्री और विधानसभा के उपाध्यक्ष सहित अनेक महत्वपूर्ण पदों को सुशोभित किया और प्रदेश की सेवा की। वे वर्ष 1998 में अविभाजित मध्यप्रदेश विधानसभा के तथा वर्ष 2013 और 2018 में छत्तीसगढ़ विधानसभा के सदस्य निर्वाचित हुए। मंडावी छत्तीसगढ़ आदिवासी विकास परिषद के अध्यक्ष भी रहे। डॉ महंत ने कहा कि -वे अत्यंत सरल,सहज एवं मृदुभाषी थे।उनके निधन से प्रदेश ने एक अनुभवी राजनेता को खो दिया है।विधान सभा उपाध्यक्ष के रूप में सदन के संचालन में उनकी भूमिका सदैव यादगार रहेगी।उन्होंने कहा कि -मनोज सिंह मंडावी आदिवासी समाज के बड़े नेता थे। वे आदिवासियों की समस्याओं को विधानसभा में प्रभावशाली ढंग से रखते थे। मंडावी आदिवासी समाज की उन्नति और अपने क्षेत्र के विकास के लिए सदैव प्रयासरत रहे।प्रदेश के विकास में उनके योगदान को सदैव याद रखा जाएगा। उनका निधन हम सबके लिए अपूरणीय क्षति है। विधान सभा सचिव दिनेश शर्मा ने भी पूरे विधान सभा सचिवालय परिवार की ओर से श्री मंडावी के निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए उन्हें अपनी विनम्र श्रद्धांजलि अर्पित की है। पत्रकार दीर्घा सलाहकार समिति के सभी सदस्यों ने भी उनके निधन पर गहरा शोक व्यक्त करते हुए उन्हें अपनी श्रद्धाजंलि अर्पित की है।

Share This: