खेल खबरTrending Now

Sachin Tendulkar Birthday: सचिन के जन्म दिन पर जानिए उनके सबसे बेहतर रिकार्ड्स और परियों के बारे में

Sachin Tendulkar 51 Birthday: क्रिकेट के भगवान कहे जाने वाले महान भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर आज अपना 51वां जन्मदिन मना रहे हैं. उन्होंने क्रिकेट के मैदान पर जो करिश्मा किया उससे शायद ही कोई अनजान हो. शतकों का शतक लगाने से लेकर इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन तक… मास्टर ब्लास्टर ने अपने 24 साल के करियर में कई बड़ी उपलब्धियां नाम कीं. सचिन का बल्ला हर जगह बोला, चाहे वह पाकिस्तान हो या इंग्लैंड, ऑस्ट्रेलिया हो या साउथ अफ्रीका. आइए जन्मदिन पर उनके कुछ खास रिकॉर्ड्स और यादगार पारियों के बारे में जानते हैं…

15 नवंबर 1989

15 नवंबर 1989, वो दिन जब एक जब एक 16 साल के लड़के ने इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा. शायद ही तब किसी ने सोचा होगा कि सचिन रमेश तेंदुलकर नाम का ये लड़का इंटरनेशनल क्रिकेट में धमाल मचाने आया है. क्रिकेट के प्रति जूनून और मैदान में चले उनके बल्ले ने सचिन तेंदुलकर को ‘गॉड ऑफ क्रिकेट’ की उपाधि दिला दी. पाकिस्तान के खिलाफ तेंदुलकर ने टेस्ट मैच से इंटरनेशनल क्रिकेट में कदम रखा था.

664 मैच… सबसे ज्यादा रन

24 अप्रैल 1973 को मुंबई में जन्मे सचिन तेंदुलकर ने इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा मैच खेलने का रिकॉर्ड अपने नाम किया हुआ है, जिसमें उन्होंने सबसे ज्यादा रन भी बनाए हैं. आज भी सचिन इंटरनेशनल क्रिकेट में सबसे ज्यादा रन बनाने वाले बल्लेबाज हैं. इस महान खिलाड़ी ने ने 34357 रन बनाए.

शतकों के बादशाह सचिन

तेंदुलकर ने इंटरनेशनल क्रिकेट से रिटायरमेंट 2013 में लिया था. लेकिन इसके 11 साल बाद यानी आज भी सचिन तेंदुलकर दुनिया के सबसे ज्यादा शतक लगाने वाले बल्लेबाज हैं. सचिन के नाम 100 इंटरनेशनल शतक हैं. वनडे में 51 और टेस्ट में 49 सेंचुरी सचिन के बल्ले से देखने को मिलीं.

टेस्ट में महारिकॉर्ड

सचिन तेंदुलकर के नाम टेस्ट में एक ऐसा महारिकॉर्ड है, जिसका टूटना लगभग नामुमकिन है. उन्होंने अपने करियर में भारत के लिए 200 टेस्ट मैच खेले, जो दुनिया के किसी भी क्रिकेटर द्वारा सबसे ज्यादा हैं. उनका यह रिकॉर्ड तोड़ना इसलिए मुश्किल है, क्योंकि टेस्ट, क्रिकेट के सबसे लंबा फॉर्मेट है. इसमें फिटनेस सबसे महत्वपूर्ण है.

घातक गेंदबाजों का किया सामना

अपने करियर में सचिन ने क्रिकेट इतिहास के महान और सबसे घातक और खतरनाक गेंदबाजों का सामना किया. इसमें वसीम अकरम, ग्लेन मैक्ग्रा, सकलैन मुश्ताक, एलन डोनाल्ड, कर्टली एम्ब्रोस, शेन वॉर्न, ब्रेट ली जैसे कई अन्य दिग्गज शामिल हैं. इनका सामना करते हुए सचिन ने कई ऐसे शॉट्स भी लगाए जो क्रिकेट बुक में हमेशा के लिए दर्ज हो गए.

पाकिस्तान में गरजा सचिन का बल्ला

2004 में पाकिस्तान दौरे पर गई भारतीय टीम के लिए मुल्तान में पहला टेस्ट खेलते हुए सचिन ने 194 रन की नाबाद यादगार पारी खेली थी. यह मैच सचिन और वीरेंद्र सहवाग, दोनों के लिए खास था. सहवाग टेस्ट क्रिकेट में तिहरा शतक बनाने वाले पहले भारतीय बने थे. सचिन दोहरा शतक पूरा करने से सिर्फ 6 रन दूर थे, जब कप्तान राहुल द्रविड़ ने पारी घोषित कर दी.

ODI में पहला दोहरा शतक

मौजूदा भारतीय कप्तान रोहित शर्मा भले ही वनडे में सबसे बड़ा 264 रन स्कोर बनाने वाले बल्लेबाज हैं, लेकिन इस फॉर्मेट में पहला दोहरा शतक लगाने का रिकॉर्ड सचिन तेंदुलकर के नाम है. 2010 में तेंदुलकर ने ग्वालियर में साउथ अफ्रीका के खिलाफ यह अकल्पनीय उपलब्धि हासिल की. 1997 में भारत के खिलाफ एक वनडे मैच में पाकिस्तानी सलामी बल्लेबाज सईद अनवर ने 194 रन बनाकर एक नया वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया था. इसके 12 साल बाद जिम्बाब्वे के चार्ल्स कोवेंट्री ने बांग्लादेश के खिलाफ नाबाद 194 रन बनाए थे, लेकिन पहला डबल हंड्रेड बनाने की उपलब्धि सचिन के ही नाम लिखी थी.

 

पाकिस्तान के खिलाफ यादगार 98 रन

2003 वर्ल्ड कप में पाकिस्तान के खिलाफ सचिन तेंदुलकर ने 98 रन की साहसी पारी खेली थी. जब भारत पाकिस्तान के खिलाफ 273 रनों का पीछा करने उतरा तो सचिन और वीरेंद्र सहवाग की जोड़ी से पारी की शुरुआत की. दोनों बल्लेबाजों ने सेंचुरियन में मैदान के चारों तरफ शोएब अख्तर और वसीम अकरम की गेंदों पर शॉट्स लगाना शुरू कर दिया. सबसे यादगार पल तब आया जब सचिन ने थर्ड-मैन के ऊपर से छक्का लगाने के लिए लॉफ्टेड स्क्वेयर कट खेला. मैच के दौरान वह चोटिल हो गये थे और दो रन से शतक से चूक गये. अपनी 98 रन की पारी के दौरान सचिन ने 12000 वनडे रन की उपलब्धि अपने नाम भी की. यह मैच भारत ने जीता था.

 

केन्या के खिलाफ यादगार शतक

केन्या जैसे कमजोर प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ 140 रन का स्कोर सचिन जैसे बल्लेबाज के लिए कोई बड़ी बात नहीं, लेकिन सचिन ने जिन परिस्थितियों में बल्लेबाजी की वो इस पारी को खास बना गया. सचिन के पिता का निधन हो गया था और वह अंतिम संस्कार के लिए भारत लौट आए थे. हालांकि, अगले ही दिन केन्या के खिलाफ मैच में, जब आंसू भरी आंखों वाले तेंदुलकर ने शतक बनाने के बाद अपना बल्ला आसमान की तरफ उठाया, तो दुनिया ने नोटिस किया. इसके बाद उनके साहस की सराहना भी की गई.

 

ऑस्ट्रेलिया-इंग्लैंड में जाकर बनाए रन

सचिन तेंदुलकर ने भारत में तो रन बनाए ही, लेकिन ऑस्ट्रेलिया, इंग्लैंड और साउथ अफ्रीका जैसी मुश्किल पिचों पर भी उनका बल्ला बोला. सचिन ने ऑस्ट्रेलिया में खेले 67 मैचों में 3300 रन बनाए, जबकि इंग्लैंड में जाकर 43 मैच खेले और 2626 रन बनाए. वहीं, साउथ अफ्रीका में 56 मैच खेलते हुए सचिन के नाम 2624 रन दर्ज हैं. न्यूजीलैंड और पाकिस्तान में क्रमशः 1663 रन और 963 रन उनके नाम हैं. ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड में 7-7 जबकि साउथ अफ्रीका में सचिन के नाम 9 शतक दर्ज हैं. न्यूजीलैंड और पाकिस्तान में उन्होंने 3-3 शतक बनाए थे.

 

 

Share This: