Trending Nowशहर एवं राज्य

मिसेज यूनिवर्स में दो खिताब लेकर लौटी प्रेरणा, सांसद बघेल ने सुनाया अपना पसंदीदा गीत

महापौर शशि भी घर पहुंच कर दी बधाईयां
भिलाई। मिसेज यूनिवर्स 22 -23 प्रतियोगिता में यूरोपियन देश बल्गारिया की राजधानी सोफिया से दो खिताब अपने नाम कर स्वदेश लौटने पर प्रेरणा धाबर्डे का स्वागत रायपुर एयरपोर्ट से लेकर तालपुरी निवास स्थान तक बेहद गर्मजोशी के साथ किया गया। जगह-जगह बड़े-बड़े होर्डिंग ,बैनर और कट आउट लगाए गए थे। लगभग 500 से अधिक छत्तीसगढ़ वासियों ने रायपुर एयरपोर्ट पर मिसेज प्रेरणा धाबर्डे मिसेज यूनिवर्स बेस्ट परफॉर्मर, मिसेज यूनिवर्स सेंट्रल पेसिफिक एशिया खिताब जीतने पर स्वागत ,फूल माला और फूलों के गुलदस्ते से किया गया।बैंड बाजा और 40 गाडिय़ों का काफिला एयरपोर्ट से खुली गाड़ी में पटाखों आतिशबाजी के साथ रायपुर चौक ,कुम्हारी और पावर हाउस चौक भिलाई में रुका। जहां विभिन्न समाज व संगठनों के प्रतिनिधियों ने मिसेज यूनिवर्स प्रेरणा धाबर्डे का स्वागत किया।
पावर हाउस चौक पर डॉ बाबासाहेब आंबेडकर की प्रतिमा पर माल्यार्पण कर यह काफिला सेक्टर-1 बैंक के पास रुका। यहां पर भी दुर्ग भिलाई के निवासियों ने पटाखे फोड़ और ढोल पर नृत्य कर अपना खुशी जाहिर की और फूल मालाओं से प्रेरणा धाबर्डे को लाद दिया। यहां से प्रेरणा धाबर्डे को खुली बग्गी पर बैठाकर बैंड बाजे के साथ ले आगे बढ़ा। सेक्टर 1,चौक और ग्लोब चौक पर विभिन्न समाज,समितियों और जाति धर्म के लोगों ने किया और उन्हें छत्तीसगढ़ का और भारत का गौरव कहा। इसके पश्चात यह काफिला रूआबांधा बस्ती के पास रुका जहां के श्रमिक परिवारों ने नाच गाकर स्वागत किया और सभी लोगों को जलपान का प्रबंध किया गया। रूआबांधा झिरिया पारा बस्ती से लगभग 500 लोगों का काफिला, और 40- 50 गाडिय़ों में लोग गेट नंबर 2 ताल पुरी के पास पहुंचा। जहां पर आतिशबाजी की गई और पटाखे फोड़े गए। ढोल नगाड़ा और फूल मालाओं से स्वागत अभिनंदन किया गया। यह कारवां प्रेरणा विला तालपुरी पर जाकर समाप्त हुआ। जहां पर सभी के लिए भोजन की व्यवस्था की गयी थी।

तालपुरी स्थित धाबर्डे निवास में दुर्ग सांसद विजय बघेल ने पहुंचकर प्रेरणा को बधाई दी। छत्तीसगढ़ और भारत का गौरव बढ़ाने के लिए आशीर्वाद दिया और अपना पसंदीदा गीत चांद सी महबूबा हो मेरी भी सुनाया। रिसाली नगर निगम महापौर शशि सिन्हा ने यहां पंहुच प्रेरणा धाबर्डे से मिलकर इस उपलब्धि के लिए बधाई दी और इस उपलिब्ध को भारतीय नारी शक्ति और सौंदर्य का सम्मान बताया। तालपुरी निवास पर भोजन के साथ देर रात तक रंगारंग गीतों का कार्यक्रम भी चलता रहा और विभिन्न समाज और संगठन के लोग बधाइयां देने आते रहे। प्रेरणा धाबर्डे ने आए सभी लोगों का दिल से साधुवाद दिया, शुक्रिया अदा किया।

Share This: