Trending Nowदेश दुनिया

Politics: यूपी में हार से खीझे सपाई, स्वामी प्रसाद बोले- पोस्टल बैलेट में जीत रहे थे, अखिलेश ने कहा- बीजेपी ने किया…

लखनऊ। यूपी विधानसभा चुनाव में बीजेपी से मुंह की खाने के बाद समाजवादी पार्टी यानी सपा के नेता अजब-गजब बयान देते हुए इसका ठीकरा ईवीएम, पोस्टल बैलेट और बीजेपी पर मढ़ रहे हैं। यूपी में सपा को गठबंधन के साथ 125 सीटें हासिल हुई हैं। जबकि, बीजेपी के गठबंधन ने 273 सीटें हासिल कर लगातार दूसरी बार सत्ता में वापसी की है। इससे भड़की सपा के नेता किस तरह के बयान दे रहे हैं, उस पर गौर कीजिए। कल यानी सोमवार को बीजेपी से सपा में जाकर फाजिलनगर सीट से हारने वाले पूर्व मंत्री स्वामी प्रसाद मौर्य का बयान आया था। उन्होंने कहा था कि पोस्टल बैलट की गिनती में सपा 340 सीटों पर आगे थी और ईवीएम खुलते ही हारने लगी। उन्होंने इसे बहुत बड़ी गड़बड़ी बताई थी। इसके बाद सपा के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भी पार्टी की हार का ठीकरा बीजेपी पर मढ़ दिया।

akhilesh yadav

अखिलेश ने कहा कि बीजेपी छल-कपट करती है और इससे राजनीति की शुचिता खतरे में है। उन्होंने आरोप लगाया कि आजादी के जो मूल्य थे, वे किनारे चले गए हैं और लोकतंत्र का मूल आधार खतरे में है। सपा के अध्यक्ष ने कहा कि विधानसभा चुनाव में यूपी की जनता में बीजेपी ने डर और भ्रम फैलाया। उन्होंने कहा कि सपा अपने सहयोगियों के साथ मिलकर भविष्य में भी संघर्ष करती रहेगी। इसके बाद उन्होंने अपनी तोप का मुंह चुनाव आयोग की तरफ कर दिया। अखिलेश ने कहा कि संविधान की सुरक्षा में चुनाव आयोग की आजाद भूमिका बहुत जरूरी है क्योंकि चुनाव में लोकतंत्र और संविधान का भी इम्तिहान होता है।अखिलेश यादव ने ये आरोप भी लगाया कि बीते 5 साल में बीजेपी ने सत्ता में रहते हुए भी कोई काम नहीं किया। उन्होंने कहा कि बीजेपी ने जो समस्याएं खड़ी की हैं, उनका कोई हल भी नहीं निकल रहा है। वहीं, सपा के प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने बताया कि अखिलेश ने पार्टी के कई नए चुने गए विधायकों से भी मुलाकात की। इन विधायकों ने अपनी सीट पर हुई धांधली की जानकारी अखिलेश को दी है। चौधरी ने आरोप लगाया कि वोटर लिस्ट से सपा के समर्थकों के नाम बड़े पैमाने पर काट दिए गए थे।

Share This: