Trending Nowशहर एवं राज्य

POLITICS BREAKING : अरविंद केजरीवाल सरकार में बड़ा बदलाव ..

Delhi Chief Minister Arvind Kejriwal campaigns during a Jan Sabha ahead of Delhi Assembly Elections at Ghazipur, Vishwas Nagar on February 2, 2020 in New Delhi, India. The Delhi Assembly polls will be held on February 8 while the results will be announced on February 11. (Photo by Mayank Makhija/NurPhoto via Getty Images)

POLITICS BREAKING: Big change in Arvind Kejriwal government..

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार में मंगलवार को बड़ा बदलाव हुआ है. सौरभ भारद्वाज से दो मंत्रालय लेकर आतिशी को सौंप दिए गए हैं. बता दें कि आतिशी को सेवा और सतर्कता विभाग सौंपा गया है. अब तक ये दोनों ही मंत्रालय सौरभ भारद्वाज संभाल रहे थे. मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इस संबंध में एक फाइल उपराज्यपाल वीके सक्सेना को भेज दी है. हालांकि, सौरभ भारद्वाज के पास स्वास्थ्य समेत दिल्ली के कई विभागों की जिम्मेदारी अब भी है.

बता दें कि कुछ महीने पहले ही केजरीवाल सरकार के मंत्रीमंडल में फेरबदल हुआ था. पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन और पूर्व डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया के जेल जाने के बाद आतिशी और सौरभ भारद्वाज को इसी साल मार्च में मंत्रीमंडल में शामिल किया गया था. तब आतिशी को छह विभाग शिक्षा, पीडब्ल्यूडी, महिला एवं बाल विकास, ऊर्जा, आर्ट कल्चर व भाषा और टूरिज्म की जिम्मेदारी सौंपी गई थी. वहीं सौरभ भारद्वाज को 7 विभाग हेल्थ, अर्बन डेवलपमेंट, जल, सिंचाई व बाढ़ नियंत्रण, विजिलेंस, सर्विस और इंडस्ट्री दिए गए थे. इनमें से विजिलेंस और सर्विस विभाग अब आतिशी को सौंप दिए गए हैं.

आम आदमी पार्टी की विधायक और मंत्री आतिशी का जन्म 8 जून 1981 को दिल्ली में हुआ है. आतिशी की मां का नाम तृप्ता वाही और पिता विजय कुमार सिंह है, जो दिल्ली विश्वविद्यालय में प्रोफेसर थे. आतिशी ने स्कूल के समय में मार्क्स और लेनिन से बनने वाले शब्द ‘मार्लेना’ को अपने नाम के साथ जोड़ दिया था. इसके चलते ही उनका नाम आतिशी मार्लेना पड़ा. पंजाबी राजपूत समुदाय से आती हैं. आतिशी की पढ़ाई दिल्ली के स्प्रिंगडेल स्कूल में हुई, जिसके बाद उन्होंने सेंट स्टीफेंस कॉलेज से बैचलर डिग्री हासिल की. डीयू से पढ़ाई करने के बाद रोड्स स्कॉलशिप हासिल कर ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी लंदन से मास्टर्स किया.

राजनीतिक करियर

साल 2012 में भ्रष्टाचार विरोधी आंदोलन के समय आतिशी ने राजनीति में कदम रखा था. इसी आंदोलन के दौरान आम आदमी पार्टी (AAP) की नींव रखी गई थी. साल 2019 के लोकसभा चुनाव में भी पूर्वी दिल्ली सीट से उम्मीदवार बनाया था, लेकिन वह BJP के गौतम गंभीर ने हार गई थीं. इसके बाद साल 2020 में पार्टी ने फिर से आतिशी पर विश्वास जताया, तभी से वे दिल्ली के कालकाजी विधानसभा सीट से आम आदमी पार्टी की विधायक हैं.

 

 

 

 

Share This: