Trending Nowदेश दुनिया

सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड मामले में गैंगस्टरों के ठिकानों पर NIA की छापेमारी, 4 राज्यों में कई जगह हो रही कार्रवाई

नई दिल्ली : सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड मामले में राष्ट्रीय जांच एजेंसी ने NIA ने बड़ी कार्रवाई की है। NIA पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या से जुड़े संदिग्ध आतंकी गिरोहों के संबंध में दिल्ली-NCR, हरियाणा और पंजाब में कई जगहों पर तलाशी ले रही है। सूत्रों के जरिए मिली जानकारी के अनुसार राष्ट्रीय जांच एजेंसी के 160 अधिकारी इस छापेमार कार्रवाई को अंजाम दे रहे हैं। दिल्ली-एनसीआर, हरियाणा और पंजाब में 60 से अधिक ठिकानों की तलाशी ली जा रही है। सूत्रों के अनुसार, NIA की टीमें दिल्ली के गैंगस्टर नीरज बवानिया और टिल्लू ताजपुरिया के ठिकानों पर भी छापे मार रही है। साथ ही दिल्ली के झड़ौदा कलां में गैंगस्टर काला जठेड़ी के यहां भी छापे की कार्रवाई की गई है।

पंजाब में भी कई जगह छापेमारी

वहीं पंजाब भर के कई गैंगस्टरों के घरों पर NIA की टीमों ने दबिश दी। अमृतसर के मजीठा रोड पर गैंगस्टर शुभम के घर पर भी एनआईए ने छापा मारा है। यह छापामार कार्रवाई बड़े ही चुपचाप की गई। किसी को कानों कान खबर तक नहीं हुई। वहीं फ़रीदकोट के शहर कोटकपूरा में आज सुबह छह बजे से एक घर मे NIA की टीम सर्च कर रही है। अभी तक ये साफ नही हो पाया की टीम के हाथ क्या सुराग लगे है। बताया जा रहा है कि रेड अभी भी जारी है।

पंजाब पुलिस की ओर से दायिर याचिका में हुए हैं कई बड़े खुलासे
गौरतलब है कि सिद्धू मूसेवाला हत्याकांड में पंजाब पुलिस की ओर से दायर चार्जशीट में कई बड़े खुलासे हुए हैं। इस चार्जशीट के अनुसार कनाडा में रहने वाला कुख्यात अपराधी गोल्डी बरार मशहूर पंजाबी गायक सिद्धू मूसेवाला की हत्या का मुख्य षड्यंत्रकर्ता था। चार्जशीट में खुलासा हुआ है कि गोल्डी बरार ने इस घटना को अंजाम देने के लिए गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई, जग्गू भगवानपुरिया और कुछ अन्य लोगों की मदद ली थी। सिद्धू मूसेवाला नाम से मशहूर गायक शुभदीप सिंह सिद्धू की पंजाब के मानसा जिले में गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी।

24 आरोपियों के खिलाफ दायर चार्जशीट
इसी साल 29 मई को सिद्धू मूसेवाला जब अपने दोस्त और रिश्तेदारों के साथ एक जीप में सवार होकर मानसा के जवाहर के गांव जा रहे थे तभी छह लोगों ने उनका रास्ता रोका और उन पर गोलियां बरसा दीं। पंजाब पुलिस ने इस मामले में मानसा की एक अदालत में 24 आरोपियों के खिलाफ 26 अगस्त को पहला आरोप पत्र दायर किया था। पुलिस ने 36 लोगों के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की थी लेकिन आरोप पत्र 24 लोगों के खिलाफ दायर किया गया, जिनमें लॉरेंस बिश्नोई, जग्गू भगवानपुरिया और गोल्डी बरार के नाम हैं। आरोप पत्र के अनुसार मूसेवाला की हत्या के पीछे मुख्य साजिशकर्ता आरोपी गोल्डी बरार था। आरोप पत्र में कहा गया है कि उसने हमलावरों को 28 मई को मूसेवाला की सुरक्षा वापस लिये जाने की खबर दी थी और 29 मई को उनकी हत्या करने को कहा था। पंजाब पुलिस ने मूसेवाला समेत 424 लोगों की सुरक्षा अस्थायी आधार पर हटा दी थी।

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: