Trending Nowशहर एवं राज्य

JAGDALPUR LOKSABHA SEAT : कट्टर हिंदुवादी चेहरा, आदिवासियों के अवैध मतांतरण के विरुद्ध लगातार काम, भाजपा ने इन वजहों से बनाया महेश कश्यप को बनाया उम्मीदवार

JAGDALPUR LOKSABHA Seat: Staunch Hindu face, continuous work against illegal conversion of tribals, for these reasons BJP made Mahesh Kashyap its candidate.

जगदलपुर। बस्तर में भाजपा ने अनुषांगिक संगठन विश्व हिन्दू परिषद से जुड़े नए व युवा चेहरे महेश कश्यप को आगामी लोकसभा चुनाव के लिए प्रत्याशी बनाया है। राष्ट्रीय उपाध्यक्ष लता उसेंडी, पूर्व मंत्री महेश गागड़ा, पूर्व सांसद दिनेश कश्यप जैसे कद्दावर और वरिष्ठ नेता की जगह भाजपा ने कम चर्चित पर राष्ट्रवादी नेता को टिकट देकर एक बार फिर से चौंकाने वाला निर्णय लिया है। हल्बा व गोंड बहुल बस्तर में जातिगत समीकरण को किनारे करते हुए भतरा समुदाय के महेश को टिकट दी गई है।

महेश इसके पहले 2014 से 2019 तक सरपंच रहे हैं और अब सीधे लोकसभा का चुनाव लड़ेंगे। महेश कश्यप नगरनार के समीप कलचा गांव के रहने वाले हैं। 1996 से 2001 तक बजरंग दल में जिला संयोजक के रुप में जुड़ने के बाद प्रांतीय उपाध्यक्ष विश्व हिंदू परिषद के पद पर हैं। 2021 से अनुसूचित जनजाति मोर्चा भाजपा बस्तर जिलाध्यक्ष के पद पर हैं।

छत्तीसगढ़ सर्व आदिवासी समाज में उपाध्यक्ष भी व बस्तर सांस्कृतिक सुरक्षा मंच के संभागीय संयोजक हैं। बस्तर सांस्कृतिक सुरक्षा मंच के तले एक माह पहले नारायणपुर से दंतेवाड़ा तक आदिवासियों को मतांतरण रोकने यात्रा निकाले जाने के बाद चर्चा में आए थे। इससे पहले 2001 से 2007 तक विश्व हिंदू परिषद में जिला संगठन मंत्री, विभाग संगठन मंत्री, प्रदेश कार्यकारिणी सदस्य विश्व हिंदू परिषद, प्रांत सह संयोजक बजरंदग दल, बजरंग दल साप्ताहिक मिलन प्रमुख छत्तीसगढ़ प्रांत जैसे विभिन्न पद पर रहे चुके हैं।

इसलिए मिली टिकट –

संगठन में लंबे समय तक सक्रियता, कट्टर हिंदुवादी चेहरा। आदिवासियों के अवैध मतांतरण के विरुद्ध लगातार काम किया।

चुनौतियां –

कम चर्चित होने से जनमानस के बीच नया नाम होना। संवैधानिक पद पर सरंपच के अलावा अन्य राजनीतिक अनुभव नहीं।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

Share This: