Trending Nowशहर एवं राज्य

रायपुर एम्स में चुंबकीय किरणों की मदद से होगा पथरी का इलाज

रायपुर। पथरी के इलाज के लिए अब मरीजों को अधिक दिन तक अस्पताल में भर्ती होने की आवश्यकता नहीं होगी। एम्स में एक दिन में चुंबकीय तरंगों की मदद से बिना ऑपेरशन इसका इलाज पूरा हो जाएगा। यूरोलॉजी विभाग में इसके लिए ईएसडब्ल्यूएल मशीन स्थापित की गई। है। इसकी मदद से आठ से 15 एमएम आकार तक की पथरी का बिना किसी ऑपरेशन उपचार किया जा सकेगा। माना जा रहा है कि पथरी की समस्या लेकर एम्स आने वाले मरीजों को इससे राहत मिलने की उम्मीद है। इसके साथ ही कम समय में उपचार की प्रकरिया पूरी होने की वजह से ज्यादा मरीजों को इसका लाभ मिल पाएगा।

चिकित्सकों के अनुसार ,इस तकनीक में एक दिन के अंदर रोगी की पथरी का उपचार किया जा सकता है। इसमें एक्स रे और अल्ट्रासाउंड की मदद से पथरी के स्थान को चिन्हित किया जाता है। इसके बाथ ईएसडब्ल्यूएल की मदद से वहां शॉकवेव दी जाती है। चिकित्सक नई तकनीक के माध्यम से शॉकवेव की संख्या और प्रभाव को नियंत्रित करते हैं। पथरी के टूटने तक शॉकवेव दी जाती हैं। इसके बाद पथरी के छोटे हिस्से यूरिन मार्ग से बाहर आ जाते हैं। डाक्टरों का कहना है कि इस तकनीक के साइड इफेक्ट नहीं है और मरीज का उपचार आसानी से संभव है। निदेशक प्रो. अजय सिंह ने आशा जताई है कि इसकी मदद से ओपीडी पर रोगियों का भार कम होगा। इस अवसर पर अधिष्ठाता (शैक्षणिक) प्रो. आलोक चंद्र अग्रवाल, डॉ. विनय राठौर, डॉ. दीपक कुमार बिस्वाल आदि भी उपस्थित थे।

Share This: