Trending Nowशहर एवं राज्य

थनौद पहुंचे गृहमंत्री, जाना वहां की मूर्तियों में क्या खास बात होती है

मूर्तिकार की मांग पर साहू ने दिए सड़क सुधारने के निर्देश
दुर्ग। प्रदेश के गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू अपने दुर्ग प्रवास के दौरान रविवार की देर शाम मूर्तिकला के लिए प्रसिद्ध थनौद गांव पहुंचे और मूर्तिकार से जाना कि यहां की मूर्तियों में क्या खास बात होती हैं। इस दौरान मूर्तिकार ने गांव तक पक्की सड़क बनाने की मांग की, जिस पर गृहमंत्री ने अधिकारियों को तत्काल निर्देश देते हुए कहा कि सड़क बनाने से पहले डस्ट डालकर इसे ठीक किया जाए उसके बाद सड़क का निर्माण किया जाए क्योंकि 31 अगस्त को गणेश चतुर्थी हैं।

दो दिन बाद यानी 31 अगस्त को गणेश चतुर्थी है और दुर्ग जिले के धनौद गांव में बनने वाले गणेश प्रतिमाओं की डिमांड काफी अधिक रहती है क्योंकि यहां की बनी मूर्तियां पूरी तरह से मिट्टी से निर्मित होती है और फिनिसिंग भी काफी अच्छा रहता है। चाहे छोटी या बड़ी मूर्तियां ही क्यों न हो। अपने दुर्ग प्रवास के दौरान इन्हीं से बातों को सुनकर गृहमंत्री ताम्रध्वज साहू अपने आप को रोक नहीं पाए और रविवार की शाम खुद थनौद गांव पहुंचे और मूर्तिकारों से मिले। इस दौरान उन्होंने मूर्तिकार प्रेम चक्रधारी, माटी कला बोर्ड के अध्यक्ष बालम चक्रधारी सहित अन्य मूर्तिकारों से बात की।
गृहमंत्री ने उनसे मूर्तिकला के बारे में जानकारी लेते हुए पूछा कि उनकी मूर्तियों में क्या खास बात होती है कि वह छत्तीसगढ़ सहित दूसरे प्रदेशों में फेमस है। इस बार उनकी मूर्तियों की डिमांड क्या। इस पर मूर्तिकारों ने बताया कि इस बार गणेश प्रतिमाओं की काफी अधिक डिमांड है। इस बार जो मूर्तियां बनाई जा रही हैं वो शासन के निर्देशानुसार बनाई जा रही हैं। सभी मूर्तियां मिट्टी की बनाई जा रही हैं। मूर्तियों की खासियत यह रहती है कि लोग जैसा डिमांड करते है वे उस प्रकार की मूर्तियां बनाकर देते है और इसमें फिनिशिंग को ज्यादा महत्व दिया जाता है क्योंकि जितना ज्यादा फिनिशिंग रहेगा मूर्ति उतनी ही अच्छी दिखेगी।
इस दौरान मूर्तिकारों ने गृहमंत्री से गांव तक पक्की सड़क बनाने की मांग करते हुए उन्हें बताया कि खराब सड़क होने की वजह से मूर्ति लेने आने वालों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ता है। इस पर गृहमंत्री ने संबंधित अधिकारियों को तत्काल सड़क ठीक कराने के निर्देश देते हुए कहा कि पहले सड़क को तुरंत डस्ट डालकर ठीक किया जाए, इसके बाद उसके निर्माण की प्रक्रिया को पूरा किया जाए। इस अवसर पर जिला पंचायत अध्यक्ष शालनी रिवेन्द्र यादव, जनपद अध्यक्ष देवेंद्र देशमुख, माटी कला बोर्ड अध्यक्ष बालम चक्रधारी, सहकारिता प्रकोष्ट अध्यक्ष रिवेन्द्र यादव, ब्लॉक अध्यक्ष नंद कुमार सेन आदि मौजूद थे।

Share This: