देश दुनिया

बोले गडकरी-दिन अच्छे हो या बुरे किसी को इस्तेमाल कर नहीं फेंकना चाहिए

नई दिल्ली। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने कहा है कि कोई भी व्यक्ति सिर्फ हारने मात्र से समाप्त नहीं होता है। दिन अच्छे हो या बुरे कभी किसी को इस्तेमाल कर नहीं फैंकना चाहिए।

केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी ने नागपुर में आयोजित उद्यमियों की एक सभा को संबोधित करते हुए कहा है कि व्यवसाय हो अथवा सामाजिक कार्य या फिर राजनीति, इंसान के मानवीय संबंध सबसे बड़ी ताकत होती है। जिसे बनाकर रखना जरूरी है।

भाजपा नेता एवं केंद्रीय मंत्री ने कहा है कि मानवीय संबंध इंसान की सबसे बड़ी ताकत होती है। इसलिए किसी को कभी भी इस्तेमाल करने के बाद फेंकना नहीं चाहिए। दिन अच्छे हो या बुरे यदि किसी का एक बार हाथ थाम लिया है तो उसे थामकर रखना चाहिए।

उन्होंने कहा है सामाजिक परिपाटी के तहत उगते सूरज की सब पूजा करते हैं, लेकिन ऐसा नहीं होना चाहिए। क्योकि इस बात को रखना जरूरी है कि डूबा हुआ सूरज भी उगता जरूर है।

केंद्रीय मंत्री ने छात्र नेता के रूप में अपने पुराने दिनों को याद करते हुए कहा कि जब कांग्रेस नेता श्रीकांत जिचकर ने उन्हें बेहतर भविष्य के लिए कांग्रेस में शामिल होने के लिए कहा था तो गडकरी ने जवाब दिया था कि मैं कुएं में कूदकर मर जाऊंगा लेकिन कांग्रेस में शामिल नहीं होऊंगा। क्योंकि मुझे आपकी पार्टी की विचारधारा पसंद नहीं है।

राजनीति के जानकार केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी के इस बयान को लेकर अब इस बात के मंथन में लग गए हैं कि उनका इशारा किसकी तरफ है। केंद्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी को हाल ही में भारतीय जनता पार्टी ने पार्टी के संसदीय बोर्ड ने हटा दिया था।

Share This: