Trending Nowदेश दुनिया

केजरीवाल के एक और मंत्री पर ED का शिकंजा, राजकुमार आनंद के परिसरों पर छापेमारी

नई दिल्ली। आम आदमी पार्टी के लिए बीते कुछ समय से मुसीबतें खत्म होने का नाम नहीं ले रही हैं। पार्टी के कई नेता पहले से ही जेल में हैं और दिल्ली के सीएम केजरीवाल को भी प्रवर्तन निदेशालय यानी ED ने पूछताछ के लिए समन भेजा है। वहीं, गुरुवार को सुबह-सुबह ही दिल्ली सरकार के एक और मंत्री राजकुमार आनंद पर ED ने शिकंजा कसते हुए छापेमारी कर दी है।

9 ठिकानों पर छापा

दिल्ली सरकार में मंत्री राजकुमार आनंद के परिसरों पर गुरुवार को सुबह-सुबह ED ने छापेमारी के लिए दस्तक दी। जानकारी के मुताबिक, राजकुमार आनंद के सिविल लाइंस वाले घर समेत 9 ठिकानों पर छापेमारी चल रही है। राजकुमार आनंद साल 2020 में दिल्ली के पटेल नगर सीट से विधायक बने थे। वह वर्तमान में दिल्ली सरकार में समाज कल्याण, सहकारिता विभाग, लैंड एंड बिल्डिंग, श्रम मंत्रालय और रोजगार मंत्रालय जैसे कई विभागों का कार्यभार संभाल रहे हैं।

किस मामले में हुई कार्रवाई?

अब तक मिली जानकारी के मुताबिक, ED ने मनी लॉन्ड्रिंग के मामले की जांच में पीएमएलए कानून के तहत राजकुमार आनंद पर ये कार्रवाई की है। ये जांच DRI की ओर से दायर की गई अभियोजन शिकायत के आधार पर शुरू की गई थी। इस शिकायत में अंतर्राष्ट्रीय हवाला लेनदेन और झूठी घोषणाओं के तहत 7 करोड़ से अधिक की सीमा शुल्क चोरी जैसे आरोप भी शामिल हैं।

सीएम केजरीवाल को समन

दिल्ली शराब घोटाला मामले में ED ने पूछताछ के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को समन भेजा था। अरविंद केजरीवाल गुरुवार को ईडी के सामने पेश हो सकते हैं। केजरीवाल ने इस समन को राजनीति से प्रेरित बताया है। बता दें कि इसी मामले में दिल्ली के पूर्व उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया और सांसद संजय सिंह पहले से जेल में हैं। इसके अलावा मनी लॉन्ड्रिंग के मामले में दिल्ली सरकार में पूर्व मंत्री सत्येंद्र जैन को भी जेल हो चुकी है।

Share This: