Trending Nowशहर एवं राज्य

EARTHQUAKE : नेपाल में एक बार फिर भूकंप के झटके महसूस, हिल उठी धरती, कांप गए लोग

EARTHQUAKE: Earthquake tremors felt once again in Nepal, the earth shook, people trembled

डेस्क। नेपाल में एक बार फिर भूकंप के झटके महसूस किए गए। पिछली बार बिहार की सीमा से सटे इलाके में भूकंप आया था। इस बार नेपाल के नुवाकोट जिले के बेलकोटगडी के आसपास ये भूकंप आया। भूकंप सुबह 5:26 बजे आया। राष्ट्रीय भूकंप निगरानी और अनुसंधान केंद्र रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 5.3 मापी गई। हालांकि अभी कोई जान—माल के नुकसान की खबर नहीं है। इन दिनों नेपाल की धरती पर लगातार भूकंप आ रहे हैं। इससे पहले नेपाल के काठमांडू में बीते रविवार 31 जुलाई की सुबह  भूकंप आया था, जिसकी तीव्रता 5.5 थी।

31 जुलाई को नेपाल में आए भूकंप का प्रभाव बिहार में भी देखा गया था –

31 जुलाई को आए इस भूकंप का असर बिहार के भी कई जिलों में देखा गया था। बिहार के सीतामढ़ी, मुजफ्फरपुर, भागलपुर में ये झटके महसूस किए गए थे। भूकंप सुबह 7.58 बजे आया था। भूकंप का केंद्र नेपाल में था। 5.5 तीव्रता का था भूकंप। सुबह भूकंप के चलते लोगों में दहशत फैल गई। वहीं नेपाल की राजधानाी काठमांडू की धरती में कंपन हुआ है। रिक्टर स्केल पर भूकंप के कंपनी की तीव्रता 5.5 आंकी गई। भूकंप विज्ञान के राष्ट्रीय केंद्र ने जानकारी दी कि यह भूकंप नेपाल से 147 किमी पूर्व-दक्षिण पूर्व में सुबह 7 बजकर 58 मिनट पर आया था।

नेपाल में नागरकोट के पास आया था भूकंप –

नेपाल में 31 जुलाई से 6 दिन पहले भी भूकंप के झटके आए थे। अमेरिकी जियोलॉजिकल सर्वे के अनुसार नेपाल के नागरकोट यह भूकंप आया था। यह भूकंप नागरकोट से 21 किमी उत्तर पूर्व में 4.1 तीव्रता का था। हालांकि इस कंपन से जानमाल के नुकसान नहीं हुआ था। लेकिन इस बार 5.5 की तीव्रता का भूकंप है, जो पिछली बार से ज्यादा घातक है।

सितंबर 2020 में भी आए थे भूकंप के तगड़े झटके –

इससे पहले सितंबर 2020 में भी नेपाल में भूकंप के तगड़े झटके महसूस किए गए थे। रिक्टर स्केल पर इस भूकंप की तीव्रता 6 थी। राजधानी काठमांडु से सटे सिंधुपाल चौक जिले में यह भूकंप आया था। इस भूकंप से किसी तरह का नुकसान तो नहीं हुआ, लेकिन नेपाल के कई जिलों में और यहां तक कि भारत में बिहार के सीमावर्ती जिलों में भी भूकंप का कंपन महसूस किया गया था।

2015 में आई थी विनाशकारी भूकंप की त्रासदी –

नेपाल भूकंप की बड़ी त्रासदी झेल चुका है। यहां वर्ष 2015 में बड़ा खतरनाक भूकंप आया था। नेपाल मे 25 अप्रैल 2015 की सुबह 11 बजकर 56 मिनट पर भूकंप का जोरदार झटका महसूस किया गया था। भूकंप की तीव्रता 7.8 थी। यह बड़ा विनाशकारी भूकंप था, क्योंकि इसकी तीव्रता बहुत ज्यादा थी। भूकंप इतना भीषण था कि भारत के कई राज्यों में तेज भूंकप के झटके महसूस किए गए थे। उत्तर प्रदेश के गोरखपुर और सिद्धार्थनगर जिलों के कुछ मकान भी दरक गए थे। 9000 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई थी। 80 लाख से ज्यादा लोग इस भूकंप से प्रभावित हुए थे। संयुक्त राष्ट्र समेत दुनियाभर के कई देशों ने गंभीर मानवीय मदद भेजी थी।

Share This:

Leave a Response

%d bloggers like this: