Trending Nowदेश दुनिया

आंध्र प्रदेश स्थित ‘जिन्ना टावर’ का नाम बदलने की मांग, BJP नेताओं ने कहा- डॉ. कलाम के नाम पर रखा जाए नाम

आंध्र प्रदेश : भारतीय जनता पार्टी (BJP) ने आंध्र प्रदेश सरकार से पाकिस्तान के संस्थापक पिता मोहम्मद अली जिन्ना के नाम पर रखे गए गुंटूर के ‘जिन्ना टॉवर’ (Jinnah Tower) का नाम बदलने की मांग की है. महात्मा गांधी रोड पर गुंटूर के केंद्र में स्थित जिन्ना टॉवर साल 1945 के आसपास बनाया गया एक लंबा स्मारक है. इस टॉवर में गुंबद के आकार की संरचना के साथ छह पिलर हैं और इसे स्थानीय लोगों द्वारा सद्भाव और शांति का प्रतीक माना जाता है. इतना ही नहीं इस स्थान को जिन्ना सेंटर के रूप में भी जाना जाता है.

बीजेपी नेताओं ने मांग की है कि राज्य सरकार स्मारक और स्थान से “जिन्ना” नाम हटा दे, क्योंकि यह भारत के विभाजन के लिए जिम्मेदार व्यक्ति के नाम का प्रतीक है. जिन्ना टॉवर का नाम बदलने की मांगों का सिलसिला तब शुरू हुआ जब गुरुवार सुबह बीजेपी के राष्ट्रीय सचिव वाई सत्य कुमार (Y Satya Kumar) ने एक ट्वीट किया. उन्होंने ट्वीट में कहा कि, ‘इस टावर का नाम जिन्ना और क्षेत्र का नाम भी जिन्ना सेंटर रखा गया है. विडंबना यह है कि यह पाकिस्तान (Pakistan) में नहीं बल्कि आंध्र प्रदेश के गुंटूर शहर में स्थित है.

‘टॉवर’ का नाम डॉ. कलाम के नाम पर रखने की मांग

उन्होंने आगे कहा, ‘यह एक ऐसा सेंटर है जो आज भी भारत के एक गद्दार की याद दिलाता है. जिन्ना के बजाय इस टॉवर का नाम डॉ एपीजे अब्दुल कलाम (APJ Abdul Kalam) या मिट्टी के पुत्र, एक महान दलित कवि गुर्रम जशुवा (Gurram Joshua) के नाम पर क्यों नहीं रखा जाना चाहिए? एक विचार है.’ मालूम हो कि इससे पहले, बीजेपी के आंध्र प्रदेश इकाई के अध्यक्ष सोमू वीरराजू (Somu Veerraju) ने भी एक बयान जारी कर कहा था कि ‘बीजेपी गुंटूर में स्मारक के लिए जिन्ना के नाम का कड़ा विरोध कर रही है.’

बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष ने मांग की कि राज्य सरकार टॉवर का नाम किसी अन्य देशभक्त के नाम पर रखे, जिसने भारत की स्वतंत्रता के लिए जीतोड़ कोशिश की. वीरराजू ने कहा, ‘जिन्ना भारत को विभाजित कर पाकिस्तान के गठन के लिए जिम्मेदार थे. उन्होंने देश के लोगों के बीच दुश्मनी का बीज बोया था.’ वीरराजू ने कहा, ‘सिर्फ गुंटूर में ही नहीं, सरकार को देश के उन सभी स्थानों के नाम बदलने चाहिए जो भारत के विभाजन के लिए जिम्मेदार लोगों के नाम पर रखे गए हैं.’

जिन्ना टॉवर को गिराने की धमकी

बीजेपी के राज्य उपाध्यक्ष एस विष्णुवर्धन रेड्डी ने भी इसी तरह की मांग रखी. जबकि तेलंगाना के BJP विधायक टी राजा सिंह ने एक कदम आगे बढ़कर जिन्ना टॉवर को गिराने की धमकी तक दे डाली. जिन्ना टॉवर को बीजेपी नेता भारत के विभाजन का प्रतीक बता रहे हैं. उन्होंने मांग की कि इस स्थान का नाम अब्दुल कलाम के नाम पर रखा जाए या किसी और राष्ट्रभक्त के नाम पर रखा जाए.

Share This: