Trending Nowदेश दुनिया

नए साल पर कहर बरपाएगी शीतलहर…. इलाकों में दिनभर कोहने की घनी चादर

राजस्थान : पश्चिमी विक्षोभ के चलते लगातार ठंड का कहर बना हुआ है. प्रदेश के कई जिलों में बारिश और ओलावृष्टि के बाद मौसम में ठंडक बनी हुई है. वहीं शीतलहर का भी असर बरकरार है. लगातार कई इलाकों में तापमान में गिरावट देखी जा रही है जिसके चलते लोगों की धूजणी छू़ट रही है. राजधानी जयपुर की बात करें तो यहां रात में तापमान 6 से 9 डिग्री तक बना हुआ है, हालांकि मंगलवार रात न्यूनतम तापमान 9.0 डिग्री सेल्सियस रिकॉर्ड किया गया. प्रदेशभर में बीते 2 दिन तक बारिश का आलम ऐसा रहा कि उसका असर अब देखने को मिल रहा है. बारिश के बाद कई इलाकों में दिनभर कोहने की घनी चादर बनी हुई है. इसके अलावा ठंडी हवाओं का प्रकोप बना हुआ है. राज्य के अधिकांश जिलों में पिछले हफ्ते से लगातार 4 से 5 डिग्री तक तापमान में गिरावट देखी गई है.

अभी नहीं मिलेगी ठंड से राहत
मौसम विभाग ने बताया कि राजस्थान में फिलहाल लोगों को ठंड से राहत मिलने की कोई संभावना नहीं है. ज्यादातर जिलों में लगातार तापमान में गिरावट हो रही है जिससे शीतलहर भी फिलहाल बनी रह सकती है. जयपुर में 24 घंटे के मौसम के पूर्वानुमान के तौर पर मौसम विभाग का कहना है कि आसमान में आंशिक रूप से बादल छाए रहेंगे और अधिकतम और न्यूनतम तापमान 21 डिग्री सेल्सियस और 7 डिग्री तक रहेगा.

नए साल पर चलेगी शीतलहर
मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि राज्य के कुछ हिस्सों में बारिश और ठंडी हवाओं का दौर अभी आगे भी देखा जा सकता है. वहीं सीकर जिले के फतेहपुर में मंगलवार रात सबसे कम तापमान 2.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. इसके अलावा कोटा, डबोक, धौलपुर और चित्तौड़गढ़ समेत कई जगहों पर बारिश भी रिकॉर्ड की गई. मौसम में बीते मंगलवार रात न्यूनतम तापमान में 2 से 3 डिग्री सेल्सियस की गिरावट दर्ज की गई. जिलेवार देखें तो चुरू में 4.3 डिग्री, संगरिया में 4.8 डिग्री, पिलानी में 5.8 डिग्री, सीकर में 6.4 डिग्री, गंगानगर में 7.3 डिग्री और नागौर में 7.5 डिग्री दर्ज किया गया.राजस्थान के उत्तरी जिलों में कोहरा बना रहने की संभावना के साथ ही 31 दिसंबर और 1 जनवरी को उत्तरी जिलों में कुछ इलाकों में शीतलहर चलने की संभावना भी बताई गई है.

Share This: