Trending Nowशहर एवं राज्य

CG LAST DAY OF CAMPAIGN : कोरबा में आज गरजेंगे शाह .. करीब 15 हजार लोगों की भीड़ पहुंचने की उम्मींद

CG LAST DAY OF CAMPAIGN: Shah will thunder in Korba today.. A crowd of around 15 thousand people is expected

कोरबा। छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण के अंतिम दौर में गृहमंत्री अमित शाह आज कोरबा विधानसभा में चुनावी रैली में शामिल होंगे। घंटाघर ओपन आॅडिटोरियम में आयोजित इस चुनावी सभा में करीब 15 हजार लोगों की भीड़ पहुंचने की उम्मींद जतायी जा रही है। चुनाव प्रचार के ठीक अंतिम दिन अमित शाह के इस चुनावी रैली से बीजेपी को मजबूती मिलने की उम्मींद है। वहीं दूसरी तरफ कांग्रेस का गढ़ कहे जाने वाले कोरबा विधानसभा में अमित शाह की रैली पर ना केवल कोरबा बल्कि पूरे प्रदेश की नजर रहेगी।

गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में दूसरे चरण के चुनाव का प्रचार आज शाम 5 बजें से थम जायेगा। ऐसे में चुनावी प्रचार के अंतिम दौर में कांग्रेस और बीजेपी के केंद्रीय नेता लगातार चुनावी सभा लेकर अपने पक्ष में माहौल बनाने में जुटे हुए है। चुनाव प्रचार के इसी कड़ी में कांग्रेस का गढ़ कहे जाने वाले कोरबा विधानसभा में केंद्रीय मंत्री अमित शाह आज चुनावी रैली करेंगे। दोपहर करीब 2 बजें के लगभग अमित शाह कोरबा के एसईसीएल मैदान स्थित हैलीपेड पहुंचेंगे। इसके बाद यहां से सीधे घंटाघर ओपन आडिटोरियम में स्थित सभा स्थल पहंुचकर बीजेपी प्रत्याशी लखनलाल देवांगन के साथ बीजेपी के पक्ष में माहौल बनायेंगे।

आपको बता दे कि 11 महीने के भीतर अमित शाह की कोरबा में ये दूसरी बड़ी सभा है। इससे पहले 7 जनवरी को केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने कोरबा के इंदिरा स्टेडियम में बड़ी सभा को संबोधित कर जनता से सूबे की कांग्रेस को बदलने का संकल्प दिलवाया था। इस सभा के बाद एक बार फिर अमित शाह कांग्रेस का गढ़ कहे जाने वाले कोरबा विधानसभा में चुनावी रैली करने पहुंच रहे है। कोरबा विधानसभा के सियासी समीकरण को समझे तो इस सीट से लगातार तीन बार से कांग्रेस विधायक जयसिंह अग्रवाल जीतते आ रहे है। मौजूदा सरकार में जयसिंह अग्रवाल राजस्व मंत्री भी है।

ऐसे में लगातार चैथी बार इस सीट से राजस्व मंत्री जयसिंह अग्रवाल की प्रतिष्ठा भी इस बार दांव पर है। वहीं बीजेपी ने इस सामान्य सीट से ओबीसी वर्ग से आने वाले पूर्व विधायक लखनलाल देवांगन को अपना प्रत्याशी बनाया है। सियासी जानकारों की माने तो इस सीट से बीजेपी के स्थानीय संगठन में आपसी मनमुटाव और भीतरघात हर बार हार की बडी वजह रही है। पिछले तीन विधानसभा और लोकसभा चुनाव के परिणाम को देखे तो, इस सीट से विधानसभा चुनाव में हर बार बीजेपी को हार का सामना करना पड़ा है, लेकिन लोकसभा चुनाव में कोरबा विधानसभा सीट से ही हर बार बीजेपी को बढ़त मिली है।

ऐसे में इस बार बीजेपी जहां संगठित होकर कांग्रेस के इस गढ़ में ढहाने का दावा कर रही है, वही पार्टी नेताओं का ये भी मानना है कि केंद्रीय मंत्री अमित शाह की रैली से बीजेपी को और भी ज्यादा मजबूती मिलेगी। जिसका परिणाम 3 दिसंबर को सबसे सामने रहेगा। खैर चुनाव प्रचार के अंतिम दौर में अमित शाह की रैली कितना असर डाल पाती है, ये तो आने वाला वक्त ही बतायेगा। लेकिन कोरबा विधानसभा में बीजेपी और कांग्रेस के बीच काफी कड़ा और दिलचस्प मुकाबला माना जा रहा है।

 

 

 

 

Share This: