Trending Nowशहर एवं राज्य

CG BREAKING : बीजापुर के 25 गाँव के लोग नहीं कर सकेंगे मतदान !

CG BREAKING: People of 25 villages of Bijapur will not be able to vote!

बीजापुर। बीजापुर जिले के भोपालपटनम ब्लॉक के सड्रा इलाके के सैकड़ों ग्रामीण विधानसभा चुनाव में वोटिंग से वंचित रह जाएंगे.आपको बता दें कि ब्लॉक में कुल दो सौ बीस मतदान केंद्र हैं. जिसमें 12 मतदान केंद्र अतिसवेदनशील श्रेणी में आते हैं. इन मतदान केंद्रों को दूसरी जगह ट्रांसफर किया गया है.जिसमें सड्रा इलाके की तीन पंचायत हैं. जिसमें बड़ेककलेट, सड्रा, एडापल्ली शामिल हैं. इन तीन पंचायतों में 25 गांव आते हैं. जिनमें सैकड़ों ग्रामीण हैं.

सलवा जुड़ूम के कारण छूटा गांव :

इन तीन पंचायतों के कई ग्रामीण 2005 सलवा जुडूम अभियान के समय अपना घर, गांव, खेत छोड़कर भोपालपटनम फॉरेस्ट नाके के पास आकर बस गए. धीरे-धीरे इस इलाके को संड्रापारा नाम दिया गया. चुनाव के समय इन तीन पंचायतों के लिए मतदान केंद्रों को भोपालपटनम सड्रापारा के पास के स्कूल में लगाया जाता था. जहां सभी लोग मतदान करते थे. लेकिन तीन पंचायतों के गावों में जो लोग हैं वे अपने मत का इस्तेमाल नहीं कर सकेंगे.क्योंकि अब मतदान केंद्र 70 किलोमीटर दूर विस्थापित कर दिया गया है.बड़ेककलेड, संड्रा, एडापल्ली पंचायतों में अभी भी सैकड़ों लोग वहीं रहते हैं. लेकिन पोलिंग बूथ की दूरी के कारण मतदान नहीं दे पाएंगे.ग्रामीणों की माने तो उन्हें राशन के अलावा कोई दूसरी सुविधा नहीं मिलती.

पंचायतों को नगर पंचायत में शामिल करने की मांग :

संड्रापारा में बसे ग्रामीणों को कहना है कि विकास के नाम पर उन्हें कुछ नहीं मिला है. ग्रामीणों के मुताबिक उन्होंने सड्रापारा को नगर पंचायत में शामिल करने के लिए मुख्य नगर पालिका अधिकारी से निवेदन किया था.लेकिन आज तक उनका समाधान ना हो सका. ग्रामीणों की माने तो वो अपने खेत छोड़कर सलवा जुड़ूम के कारण संड्रापारा आ गए.अब परिवार चलाने के लिए कुली या फिर मजदूरी का काम करते हैं.

तीन पंचायतों में 25 गांव :

संड्रा इलाके के बड़ेककलेड पंचायत में 12 गांव हैं. जिनमे कानलापर्ती, पिलुर, सप्पीमारक, मारवाड, पेंकुदूर, पुलगुंडम, बड़ेककलेड, अन्नापुर, छोटेककलेड, सप्पीमरका पटेलपारा, टेकमेंट्टा हैं. वही संड्रा पंचायत में 7 गांव चेरपल्ली, जारेगुड़ा, रालापल्ली, मुसटुसा, पंदिवाय, आरेपल्ली, चिपनपल्ली हैं.वहीं एडापल्ली पंचायत में 6 गांव एडापल्ली, पल्सेगुंडी, कोक्केरा, इरपागुट्टा, गुण्डापोर, गरतुल हैं.

क्यों मतदान केंद्र किया गया शिफ्ट ? :

आपको बता दें कि धुर नक्सल प्रभावित इलाकों में मतदान कराना चुनाव आयोग के लिए चुनौती पूर्ण होता है. चुनाव आयोग ने मतदान को लेकर पूरी तैयारियां पूरी कर ली है. भोपालपटनम ब्लॉक में 12 अतिसंवेदनशील मतदान केंद्र हैं. सुरक्षा की दृष्टि से इन मतदान केंद्रों को दूसरी जगह विस्थापित किया गया है. इस इलाके में मतदान की सूची नहीं बनीं. जबकि अब भी करीब 5000 से अधिक ग्रामीण ऐसे हैं जो बिना मत पत्र के घूम रहे हैं.इस कारण से ये सभी मतदान से वंचित हो जाएंगे.

 

 

 

 

 

 

Share This: